'सब्ज़ियों पर लगे प्रतिबंध'

इमेज कॉपीरइट Getty

अगर जैन पर्व के दौरान मांस पर प्रतिबंध हो सकता है तो मुसलमानों के पर्व बक़रीद के दौरान सब्ज़ियों पर बैन क्यों नहीं हो सकता?

बेंगलुरू के फ़लाह फ़ैसल के मन में जब ये ख़्याल आया तो उन्होंने ऑनलाइन पीटिशन लगा कर सरकार से मांग की कि 25 सितम्बर को बक़रीद के दौरान सब्ज़ियों पर प्रतिबंध लगाया जाए.

इस पीटिशन पर अब तक 550 से अधिक लोग हस्ताक्षर कर चुके हैं.

फ़लाह फ़ैसल ने बीबीसी हिंदी से बातचीत में कहा, ''असल में ये बात सबके मन में थी. हम सब ये सोच रहे थे. बेंगलुरू में गणेश चतुर्थी के समय मीट बैन था. हालांकि बहुत दबाव नहीं डाला गया था तो मैंने सोचा कि ईद पर क्यों न सब्ज़ियां खाने की मनाही हो. ज़ाहिर है मैंने तंज़ में ये सोचा था और ऑनलाइन पर भी तंज़ में ही ये पीटिशन डाला.''

फ़लाह फ़ैसल की पीटिशन में कहा गया है कि ''पौधों में भी भावनाएं होती हैं.''

फ़ैसल कहते हैं, ''मुझे अंदाज़ा नहीं था कि लोग इतनी प्रतिक्रिया देंगे. कुछ लोगों ने समर्थन किया है लेकिन कुछ लोग ये भी कह रहे हैं कि क्या बेवक़ूफ़ी है. मैं इनमें से किसी का जवाब नहीं दे रहा हूं.''

इमेज कॉपीरइट FALAH FAISAL FB PAGE

फ़ैसल को देश में बढ़ते बैन कल्चर से आपत्ति है. वो बताते हैं कि जब बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री इंडियाज़ डॉटर पर प्रतिबंध लगा था तो उन्होंने इसके ख़िलाफ़ एक पैरोडी फ़िल्म भी बनाई थी इंडियाज़ मदर्स.

फ़ैसल पेशे से पत्रकार हैं और फ़िल्में भी बनाते हैं.

ऑनलाइन पीटिशन के तर्क

अपनी इस याचिका में फ़ैसल ने सब्ज़ियों पर प्रतिबंध लगाने के लिए तर्क भी दिए हैं.

उन्होंने लिखा है कि कई धार्मिक कारणों से मांस पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है तो हम अल्पसंख्यकों को भी कहने का हक़ है.

फ़ैसल ने लिखा है कि पैग़ंबर इब्राहिम अपने बेटे की क़ुरबानी देने के लिए तैयार थे तो मैं ये उम्मीद करता हूं कि हम एक दिन के लिए सब्ज़ियां खाना छोड़ सकते हैं.

उन्होंने कारणों के बारे में बताया है कि हाल ही में आई रिपोर्टें ये बताती है कि सब्ज़ियों में कीटनाशक का इस्तेमाल बढ़ रहा है, आप एक दिन के लिए भूखे रह सकते हैं. उपवास आपके लिए अच्छा है. हम हर साल एक महीने के उपवास पर रहते हैं.

वे लिखते हैं कि हमें अपने मेहनतकश किसानों को भी एक दिन का आराम देना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार