महिलाएं बढ़ा रही हैं देश में बेरोजगारी?

कक्षा 10 में पढ़ाई जाने वाली सामाजिक विज्ञान की किताब. इमेज कॉपीरइट ALOK PUTUL

क्या महिलाओं के नौकरी करने के कारण देश में बेरोज़गारी बढ़ी है? आपका जवाब चाहे जो भी हो, छत्तीसगढ़ सरकार तो यही मानती है.

राज्य में दसवीं के छात्र-छात्राओं को यही पाठ पढ़ाया जा रहा है.

छत्तीसगढ़ में राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद की ओर से प्रकाशित दसवीं के बच्चों के लिए अनिवार्य सामाजिक विज्ञान की किताब में 'आर्थिक समस्याएं एवं चुनौतियां' शीर्षक से एक पाठ है.

बेरोज़गारी के नौ कारण

इस पाठ में बेरोज़गारी के नौ कारणों को गिनाते हुए "महिलाओं द्वारा नौकरी" को भी एक कारण बताया गया है.

इमेज कॉपीरइट ALOK PUTUL

इस पाठ में कहा गया है, "स्वतंत्रता से पूर्व बहुत कम महिलाएं नौकरी करती थीं. लेकिन आज सभी क्षेत्रों में महिलाएं नौकरी करने लगी हैं, जिससे पुरुषों में बेरोज़गारी का अनुपात बढ़ा है."

इस पूरे मामले की राज्य महिला आयोग से शिकायत करने वाली जशपुर के कांसाबेल इलाके की शिक्षिका सौम्या गर्ग कहती हैं, "मैंने महीने भर पहले इस मामले की शिकायत की थी, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई."

इमेज कॉपीरइट COMPUTER PRINT SCRN of COMPLAIN

इस किताब को प्रकाशित करने वाली संस्था पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष और विधायक देवजी भाई पटेल भी मामले को गंभीर बता रहे हैं.

पटेल कहते हैं, "इसकी ज़िम्मेदारी से बचने का सवाल ही नहीं उठता. हम अब एक कमेटी बना कर पूरे मामले की जांच करेंगे, जिससे भविष्य में ऐसी गड़बड़ियां न हों."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार