उम्मीद है लाल फ़ीताशाही ख़त्म होगी: सिस्को प्रमुख

कैलिफ़ोर्निया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में सिलिकॉन वैली की बड़ी कंपनियों के प्रमुखों ने सरकार के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम में भागीदारी की इच्छा जताई है. कुछ कंपनियों के प्रमुखों ने भारत में निवेश का एलान भी किया.

डिजिटल इंडिया कार्यक्रम में किसने क्या कहा

सुंदर पिचाई, गूगल

इमेज कॉपीरइट Getty

भारत में स्टार्ट अप कंपनियों सबसे तेजी से उभर रही हैं और काम कर रही हैं. गूगल भारत में रेलवे में वाई-फ़ाई कनेक्टिविटी पर काम जल्द ही शुरू करेगी. भारत इनोवेशन का नया केंद्र बन सकता है.

सत्या नडेला, माइक्रोसॉफ़्ट

इमेज कॉपीरइट Reuters

कंपनी डिजिटल इंडिया कार्यक्रम में शरीक होगी. माइक्रोसॉफ़्ट की योजना भारत के 5,00,000 गांवों को तकनीक से जोड़ने की है.

कंपनी भारत के कई गांवों में काम कर रही है. सूरत नगरपालिका और दूसरे शहरों में डेटा एनेलिटिक सिस्टम पर काम किया जा रहा है.

पॉल जैकब्स, क्वॉलकॉम

कंपनी भारत में 10 अरब रुपए का निवेश करेगी. यह पैसा वहां की स्टार्ट अप कंपनियों को दिया जाएगा.

कंपनी 'डिजिटल इंडिया' के मुताबिक़ ही भारत में चिप्स डिज़ाइन करेगी. इसके लिए डिज़ाइन केंद्र खोले जाएंगे.

क्वॉलकॉम ब्रॉडबैंड, मोबाइल और ऐप बनाने के क्षेत्र में और काम करेगी.

जॉन चैंबर्स, सिस्को

उम्मीद है कि भारत में काग़ज़ी कार्रवाई जल्द ही अतीत की बात बन जाएगी.

नरेंद्र मोदी भारत के बेजोड़ राजदूत हैं. उम्मीद है कि वे अपने देश को बदल कर रख देंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार