रिज़र्व बैंक ने की ब्याज दर में कटौती

रिज़र्व बैंक (फ़ाइल) इमेज कॉपीरइट AP
Image caption रिज़र्व बैंक की समीक्षा का असर आम लोगों के बजट पर पड़ सकता है.

भारतीय रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट में 50 बेसिस प्वाइंट की कटौती की है.

इसका मतलब ये हुआ कि बैंकों को जो ब्याज क़र्ज़ लेने के लिए देना पड़ता है उसमें आधे फ़ीसदी की कमी आ जाएगी.

बैंक दरों में आई कमी का फ़ायदा ग्राहकों को दे सकते हैं.

आरबीआई ने ऐसा मौद्रिक नीति समीक्षा के तहत मंगलवार को किया है.

रेपो रेट

समीक्षा के तहत रेपो दर में 50 बेसिस प्वाइंट कमी की गई है.

रेपो रेट वो दर है जिस पर वाणिज्यिक बैंक रिज़र्व बैंक से कम अवधि का उधार लेते हैं.

पिछली समीक्षा में आरबीआई ने रेपो दर को 7.25 फीसदी पर ही जारी रखा था.

गवर्नर रघुराम राजन ने समीक्षा घोषणा के बाद कहा कि इस समय ये कमी उपयुक्त है.

उन्होंने उम्मीद जताई की बैंक भी अपनी नीतियों में बदलाव करेंगे.

इस सिलसिले में उन्होंने ख़ासतौर पर छोटी बचत का ज़िक्र किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार