उल्फा ने किया पुलिस थाने पर हमला

असम इमेज कॉपीरइट dilip sharma

असम में बुधवार शाम तिनसुकिया ज़िले के काकोपथार थाने पर राकेट लांचर से हमला किया गया.

इस दौरान हमलावरों ने थाने में तैनात पुलिस के जवानों पर गोलियां भी बरसाई.

लेकिन पुलिस का कहना है कि इस हमले में कोई भी हताहत नहीं हुआ है.

तिनसुकिया जिले के पुलिस अधीक्षक मुग्धज्योति महंत ने इस हमले के लिए अलगाववादी संगठन उल्फा (स्वाधीन) को जिम्मेदार बताया है.

चरमपंथियों ने यह हमला ऐसे समय में किया है, जब असम पुलिस गुरूवार को पुलिस दिवस मनाने जा रही है.

हमले की पुष्टि करते हुए आईजीपी (क़ानून-व्यवस्था) एसएन सिंह ने बीबीसी को बताया कि हमला काकोपथार थाने पर करीब सौ मीटर दूरी से किया गया.

लंबे अतराल के बाद किया हमला

इमेज कॉपीरइट DILIP SHARMA

हमले में उल्फा परेश बरुवा गुट के कैडरों के साथ नगा अलगाववादी संगठन एनएससीएन (के) कैडर भी शामिल है.

थाने से जब कमांडो की टीम बाहर निकल रही थी तो चरमपंथियों ने पहले राकेट प्रोपेल गन (आरपीजी) से हमला किया.

बाद में चरमपंथी घटना स्थल से भाग गए.

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान पुलिस के कुछ कमांडो ने नगा चरमपंथियों को भी देखा.

लंबे समय बाद उल्फा ने इस तरह का हमला किया है. राज्य के गृह विभाग ने इस हमले की उच्चस्तीय जांच के आदेश दिए हैं.

फिलहाल समुचे इलाके की घेराबंदी कर पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवान चरमपंथियों के खिलाफ अभियान चला रहे हैं.

काकोपथार का यह इलाका शुरू से ही उल्फा का गढ़ रहा है. लेकिन उल्फा ने पहली बार थाने पर इस तरह का हमला किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार