'बुलेट से विनाश और बैलेट से विकास आता है'

नरेन्द्र मोदी इमेज कॉपीरइट Reuters

बिहार विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद पहली बार राज्य में रैली कर रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नीतीश कुमार को जमकर निशाना पर लिया.

बांका में रैली में मोदी के भाषण की दस प्रमुख बातें.

'बैलट से विकास'

1. बिहार में अभी जो सरकार है उसका अहंकार इतना है कि मैं कुछ भेजूं तो भी वो वापस कर देंगे.

2. हम सबने सामंतवाद, पूंजीवाद, अलगाववाद और भाई भतीजावाद देख लिया लेकिन एक बार विकासवाद को वोट देकर देखें.

3. बिहार में इस बार दो दीवाली मनाई जाएगी, एक दीवाली का त्यौहार और दूसरा चुनाव के नतीजों की दीवाली.

4. बिहार आगे नहीं बढ़ेगा तो देश भी आगे नहीं बढ़ेगा.

इमेज कॉपीरइट AP

5. जो बुलेट पर विश्वास करते हैं उन्हें मालूम होना चाहिए कि बुलेट से विनाश ही पैदा होता है, बैलट की कोख से विकास पैदा होता है.

6. मैं अमरीका में बिहार के कई लोगों से मिला, मैं उनकी उपलब्धियों से प्रभावित हुआ लेकिन उनमें कोई घमंड नहीं है.

7. बिहार के लिए जो भी कर रहा हूं वह कोई उपकार नहीं है बल्कि ये लोगों का अधिकार और मेरे लिए सम्मान की बात है.

8. 10-15 साल पहले बिहार और झारखंड एक ही राज्य थे और देखिए झारखंड की सरकार ने क्या हासिल कर लिया.

9. झारखंड 29वें और बिहार 27वें स्थान पर था लेकिन दो हफ्ते पहले के सर्वे में बिहार अब भी 27 वें स्थान पर है और झारखंड तीसरे नंबर पर पहुंच चुका है.

10. आप फैसला कर लीजिए और मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि मैं आपके साथ हूं.

नीतीश का जवाब

इमेज कॉपीरइट TWITTER

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी मोदी पर ट्विटर के ज़रिए निशाना साधा.

उन्होंने लिखा, ''मोहन भागवत के आरक्षण पर हाल ही में दिए गए बयान के बाद बिहार में मोदीजी की पहली रैली में इस मामले पर उनकी चुप्पी लोगों की इस शंका को और बल देती है कि उनकी सरकार आरएसएस के दबाव में अभी चल रही आरक्षण व्यवस्था पर पुनर्विचार कर रही है.''

बिहार और झारखंड की तुलना पर नीतीश कुमार ने ट्वीट किया है कि काला जार से मौतों के मामले में बिहार और झारखंड की तुलना का अजीब तर्क है. इस पर बोलने से पहले मोदीजी को अपने साथी सीपी ठाकुर से पूछ लेना चाहिए था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार