छत्तीसगढ़: यौन शक्ति ज्ञान प्रतियोगिता रद्द

छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार ने आसाराम समर्थकों द्वारा सरकारी स्कूलों में आयोजित दिव्य ज्ञान प्रतियोगिता रद्द कर दी है.

यौन शक्ति बढ़ाने के उपाय वाली एक किताब पर आधारित इस प्रतियोगिता का आदेश शिक्षा विभाग के अफ़सरों ने निकाला था.

इसी महीने राज्य के 12 ज़िलों के सरकारी स्कूलों में यह प्रतियोगिता होने वाली थी.

भाजपा के प्रवक्ता और विधायक श्रीचंद सुंदरानी के अनुसार, “2012 के एक पुराने आदेश को आधार बना कर प्रतियोगिता कराने की बात सामने आई है. जैसे ही सरकार के संज्ञान में यह मामला आया है, सरकार ने प्रतियोगिता रद्द करने और किताबों को ज़ब्त करने का आदेश जारी किया है.”

आसाराम बापू

हत्या और यौन शोषण समेत दूसरे गंभीर आरोप झेल रहे आसाराम बापू इस समय जेल में बंद हैं. उनका छत्तीसगढ़ से गहरा रिश्ता रहा है. राज्य की भाजपा सरकार ने उन्हें शुरू से राजकीय अतिथि का दर्जा दे रखा था और तब मुख्यमंत्री रमन सिंह उनके शिष्यों में शामिल थे.

यही कारण है कि राज्य के शिक्षा विभाग द्वारा आसाराम की किताबों को सरकारी स्कूलों में बच्चों को बेच कर और फिर उन्हीं किताबों के आधार पर प्रतियोगिता कराने का सिलसिला भाजपा सरकार में लंबे समय से जारी रहा है.

ताज़ा मामला जब सामने आया कि राज्य के शिक्षा विभाग ने सभी सरकारी स्कूलों में आसाराम बापू की दिव्य ज्ञान प्रतियोगिता के लिए आदेश जारी किया है तो इस पर विवाद शुरू हो गया.

इस प्रतियोगिता के लिए जो किताब स्कूली छात्रों को बांटी गई थी, उस किताब ‘दिव्य प्रेरणा प्रकाश’ में यौन शक्ति बढ़ाने के उपायों पर लंबी चर्चा थी.

कांग्रेस के प्रवक्ता मोहम्मद अकबर का कहना है कि राज्य सरकार ने शिक्षकों की आउटसोर्सिंग के साथ-साथ किताबों की भी आउटसोर्सिंग शुरु कर दी है.

अकबर कहते हैं, “सरकारी स्कूल के बच्चों को सेक्स शिक्षा परोसने का यह काम शर्मनाक है. सरकार को इस पर तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)