साम्प्रदायिक हिंसाः ये हैं टॉप फ़ाइव राज्य

साम्प्रदायिक हिंसा इमेज कॉपीरइट BBC World Service

साम्प्रदायिक हिंसा के मामलों में अन्य राज्यों के मुक़ाबले उत्तर प्रदेश आगे रहा है लेकिन हाल के दिनों में बिहार ने यूपी को भी पीछे छोड़ दिया है.

लोकसभा में पेश किए गए आंकड़ों के मुताबिक़, साम्प्रदायिक हिंसा के मामले में बिहार का छठा स्थान था.

लेकिन पिछले साल यहां साम्प्रदायिक हिंसा के 61 और इस साल जून तक 41 मामले दर्ज हुए, जिसके बाद बिहार तीन पायदान ऊपर आ गया है.

इस वर्ष जनवरी से जून के बीच बिहार में साम्प्रदायिक हिंसा में 14 जबकि यूपी में 10 मौतें हुई हैं.

आंकड़ों के मुताबिक़, साल 2010 से 2014 के बीच भारत में हुई साम्प्रदायिक हिंसा के कुल मामलों में 20 प्रतिशत उत्तर प्रदेश से दर्ज हुए.

अभी ताज़ा मामला दादरी का है जहां मोहम्मद अख़लाक़ को पीट पीटकर मार डाला गया.

इससे पहले कानपुर में भी एक मुस्लिम व्यक्ति को पाकिस्तानी चरमपंथी होने का आरोप लगाकर भीड़ ने मार डाला जबकि मंदिर गए एक 90 साल के दलित बुजुर्ग को जला कर मार डाला गया.

बीते पांच वर्ष में उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक हिंसा के मामले साल 2013 में तब सामने आए जब मुजफ़्फ़रनगर में हिंसक वारदातें हुईं जिसमें 60 से ज़्यादा लोग मारे गए और 50 हज़ार से अधिक बेघर हो गए.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
इमेज कॉपीरइट BBC World Service

( इंडियास्पेंड की रिसर्च पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार