महागठबंधन ने जारी किया साझा कार्यक्रम

महागठबंधन का साझा न्यूनतम कार्यक्रम इमेज कॉपीरइट MANISH SHANDILYA

जदयू-राजद-कांग्रेस महागठबंधन ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को अपना न्यूनतम साझा कार्यक्रम जारी किया.

इसमें युवाओं और महिलाओं का खास ध्यान रखा गया.

न्यूनतम साझा कार्यक्रम में मुख्य रूप से उन सात बातों को शामिल किया गया है, जिसकी घोषणा नीतीश कुमार ने 28 अगस्त को ही कर दी थी.

इसके अलाावा 16 वायदों, प्राथमिकताओं और कार्यक्रमों का भी जिक्र किया गया है.

जदयू कार्यालय में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने महागठबंधन के दूसरे नेताओं के साथ इसे जारी किया.

महागठबंधन की ओर से जहां साझा कार्यक्रम पेश किया गया है, वहीं एनडीए के सभी दलों ने अपने अलग-अलग घोषणा पत्र जारी किए हैं.

साझा कार्यक्रम की मुख्य बातें

इमेज कॉपीरइट manish shandilya

1. बीस से पच्चीस साल तक की उम्र के बेरोज़गार युवाओं को दो साल तक एक-एक हज़ार रुपए मासिक भत्ता. 12वीं पास छात्रों को चार लाख तक का शिक्षा ऋण.

2. राज्य की सभी सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 35 फ़ीसदी आरक्षण.

3. अगले दो साल में सूबे के बचे सभी गांवों तक बिजली.

4. अगले पांच साल में हर घर में पीने का साफ़ पानी पाइप से पहुंचाने का इंतजाम.

इमेज कॉपीरइट PTI

5. हर गांव और घर को अगले पांच साल में पक्की सड़क से जोड़ने का वादा.

6. हर घर में शौचालय. क़रीब 1 करोड़ 72 लाख शौचालय बनाए जाएंगे.

7. राज्य में पांच नए मेडिकल कॉलेज खोले जाएँगे. हर ज़िले में कम से कम एक पॉलिटेक्निक, आईटीआई और इंजीनियरिंग कॉलेज.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार