बिहार में क्या कोई मुस्लिम वोट बैंक भी है?

मुस्लिम वोट बैंक

बिहार चुनावों पर बीबीसी की विशेष सिरीज़ 'बूझिए ना बिहार को' में हम आपको अगले कुछ दिनों तक राज्य से जुड़े मिथकों और तथ्यों के बारे में बताते रहेंगे.

इस कड़ी में जानिए, क्या बिहार में कोई मुस्लिम वोट बैंक भी है?

इसका जवाब हाँ भी है और नहीं भी. हाँ, इसलिए क्योंकि बिहार में 1990 के बाद से मुस्लिम मतदाता बड़ी संख्या में लालू प्रसाद यादव के नेतृत्व वाले राजद को वोट देता रहा है.

लेकिन इसका जवाब नहीं भी है, क्योंकि अगर उन्हें अपनी पसंद कोई दूसरा विकल्प मिलता है तो वे उन्हें वोट देते हैं.

पढ़ेंः 'बूझिए ना बिहार को' सिरीज़ की बाकी कड़ियां

यह 2009 के लोकसभा चुनाव और 2010 के बिहार विधानसभा चुनावों में नजर आया था.

2009 में केवल 30 फ़ीसदी मुस्लिम मतदाताओं ने राजद को वोट दिया था.

रुझान

इमेज कॉपीरइट Other

जबकि 2010 विधानसभा चुनाव के दौरान 32 फ़ीसदी मुस्लिम वोटरों ने राजद और पासवान के नेतृत्व वाली लोक जनशक्ति पार्टी के गठबंधन को वोट दिया था.

2010 के विधानसभा चुनाव के दौरान, जिन चुनाव क्षेत्रों में बीजेपी के उम्मीदवार को एलजेपी उम्मीदवार टक्कर दे रहे थे, वहां 37 फ़ीसदी मतदाताओं ने कांग्रेस को वोट दिया था.

राजद और बीजेपी की टक्कर जहां थी, वहां 41 फ़ीसदी मुस्लिम मतदाताओं ने राजद को वोट दिया था.

जहां राजद-जेडीयू की टक्कर हुई थी वहां 37 फ़ीसदी मुस्लिम मतदाताओं ने राजद को वोट दिया था जबकि 29 फ़ीसदी मतदाताओं ने जेडीयू को वोट किया था.

ये भी याद रखना चाहिए कि 1985 में बिहार के मुस्लिम मतदाताओं ने कांग्रेस को बड़ी संख्या में समर्थन दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार