दलित परिवार के दो बच्चे 'ज़िंदा जलाए गए'

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

हरियाणा के फ़रीदाबाद जिले में एक दलित परिवार के घर में आग लगाए जाने का मामला सामने आया है जिसमें दो बच्चों की मौत हो गई और उनके माता-पिता दिल्ली के अस्पताल में भर्जी हैं.

ये घटना सनपेड़ इलाके की है. स्थानीय डिप्टी कमिश्नर डॉक्टर अमित उग्रवाल ने बीबीसी को बताया कि हमलावरों पर आरोप है कि उन्होंने परिवार के घर पर केरोसीन छिड़ककर आग लगा दी गई जिससे दो बच्चों की मृत्यु हो गई.

एक बच्चा नौ महीने का था जबकि दूसरा ढाई साल का.

बताया जाता है कि बच्चों की मां के शरीर का 25 प्रतिशत हिस्सा झुलस गया था और वो ख़तरे से बाहर हैं जबकि पिता को छोटी मोटी चोट लगी है.

पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया है और जांच जारी है. इलाके में पुलिस तैनात है.

अग्रवाल के अनुसार आपसी रंजिश के इस मामले में पीड़ित व्यक्ति के परिवार के अन्य सभी पुरुष सदस्य हमला करने वाले राजपूत परिवार के एक सदस्य की हत्या के मामले में जेल में हैं.

प्रशासन के अनुसार गांव में क़रीब में करीब ढाई हज़ार लोग रहते हैं जिसमें से 750 दलित परिवार हैं और बाकी अन्य जातियों के जिनमें राजपूतों की संख्या अधिक है.

उनके मुताबिक दुश्मनी के चलते दूसरे परिवार ने ताज़ा घटना को अंजाम दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार