गृह मंत्री को आदेश दें, दोबारा ऐसा न हो: चैंडी

इमेज कॉपीरइट GOVT OF KERALA

केरल के मुख्यमंत्री ओमन चैंडी ने दिल्ली स्थित केरल भवन में सोमवार को पुलिस के छापे का कड़ा विरोध करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मामले में ख़ुद हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है.

सोमवार को कट्टरपंथी संगठन हिंदू सेना के कुछ कार्यकर्ता दिल्ली पुलिस के साथ केरल भवन की केंटीन में दाखिल हुए थे. उनका मकसद मेन्यू में 'बीफ़' होने की शिकायत की जांच करना था.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption मुख्यमंत्री चांडी ने इस घटना के लिए ज़िम्मेदार पुलिसकर्मियों के खिलाफ़ कार्रवाई की मांग की है

मुख्यमंत्री ने कड़ी आपत्ति जताते हुए लिखा कि दिल्ली पुलिस ने ये कार्रवाई केरल हाउस के कंट्रोलर या केरल सरकार के रेज़िडेंट कमिश्नर की इजाज़त के बग़ैर की है और इसके लिए केरल सरकार ने दिल्ली पुलिस आयुक्त के कार्यालय में एक औपचारिक शिकायत भी दर्ज कराई है.

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK
Image caption बीफ़ पकने की ख़बर से हुआ केरल हाउस में बवाल

ग़ौरतलब है कि मंगलवार को इस घटना के विरोध में केरल के सांसदों ने दिल्ली में विरोध प्रदर्शन किया. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस घटना पर आपत्ति जताई है और इसकी निंदा की है.

इमेज कॉपीरइट PTI

केरल के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा है, "मौजूदा स्थिति में मुझे लगता है कि दिल्ली पुलिस की कार्रवाई सरासर आपत्तिजनक है. उन्हें केरल हाउस के कामकाज में दख़ल देने से पहले कम से कम दिल्ली में मौजूद केरल सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों से स्पष्टीकरण लेना चाहिए था."

आखिर में चैंडी ने लिखा है, "आप निजी तौर पर हस्तक्षेप करें और केंद्रीय गृहमंत्री को निर्देश दें कि वे केरल सरकार की संपत्ति पर अनाधिकृत प्रवेश के लिए ज़िम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें और ये सुनिश्चित करें कि भविष्य में ऐसी घटनाएं ना हों."

ये मुद्दा मंगलवार को सोशल मीडिया पर भी छाया रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार