शाहरुख़ की देशभक्ति पर किस-किस को है शक?

शाहरुख़ ने कहा था कि भारत में असहिष्णुता बढ़ी है, जिसके बाद उन पर तीख़ी टिप्पणियों की बौछार शुरू हो गई. पढ़िए किसने क्या कहा?

कैलाश विजयवर्गीय

इमेज कॉपीरइट KAILASH VIJAYAVARGIYA TWITTER HANDLE AND EPA

भारतीय जनता पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने शाहरुख के इस बयान पर ट्वीट किया, "शाहरुख़ ख़ान रहते हिंदुस्तान में हैं, लेकिन उनका दिल पाकिस्तान में रहता है. उनकी फिल्मों यहाँ करोड़ों कमाती है पर उन्हें भारत असहिष्णु नजर आता है.यह देशद्रोह नहीं तो क्या है?" हालांकि उन्होंने अपना यह बयान वापस ले लिया.

योगी आदित्यनाथ

इमेज कॉपीरइट www.yogiadityanath.in

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के सांसद योगी आदित्यनाथ ने शाहरुख ख़ान पर निशाना साधते हुए कहा, ''अगर हिंदू शाहरुख ख़ान की फिल्में देखना बंद कर दें तो वह एक आम मुसलमान की तरह सड़क पर घूमेंगे. मुझे लगता है कि शाहरुख और हाफिज़ सईद की भाषा एक ही है.''

साध्वी प्राची

विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी प्राची ने शाहरुख़ ख़ान को 'पाकिस्तानी एजेंट' क़रार देते हुए कहा, "शाहरुख पाक एजेंट हैं, वह उनकी विचारधारा दर्शाते हैं. उन्हें पाकिस्तान ही चले जाना चाहिए."

गिरिराज सिंह

इमेज कॉपीरइट PTI

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी अभिनेता शाहरुख को आड़े हाथों लेते हुए कहा, "शाहरुख खाते हैं यहां का, गाते हैं पाकिस्तान का''

मीनाक्षी लेखी

भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी ने कहा, ''ईडी का नोटिस मिलने के बाद शाहरुख के लिए भारत असहिष्णु हुआ."

बाबा रामदेव

योग गुरू रामदेव ने कहा, ''अगर शाहरुख ख़ान को लगता है कि देश में असहिष्णुता बढ़ गई है तो उन्हें पद्मश्री सम्मान के बाद कमाई सारी रकम की एक लिस्ट बनानी चाहिए. इसके बाद प्रधानमंत्री राहत कोष में दान दे देना चाहिए.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार