'जब प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री से हार जाए...'

बिहार चुनाव की प्रतिक्रिया फ़ेसबुक पर

बिहार विधानसभा चुनावों के नतीजों पर 10,000 से ज़्याद लोगों ने बीबीसी हिंदी फ़ेसबुक पेज पर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

कुछ यूजर्स ने हार के बाद भी भाजपा का समर्थन करते रहने की बात कही, तो कुछ लोगों ने महागठबंधन की जीत पर खुशियां जताईं. कुछ लोगों ने भाजपा के हार के कारणों की पड़ताल की तो कुछ ने तंज भी कसे.

नीतीश कुमार ने भाजपा की हार की वजहों की व्याख्या करते हुए लिखा, “2014 के लोकसभा चुनाव में जितनी लहर मोदी की थी उससे ज्यादा लहर कांग्रेस विरोधी थी. रही बात मोदी जी की, तो उन्होंने जितने सपने दिखाए थे उसके हिसाब से काम नहीं कर पाए. उनके कुछ नेताओं ने लोगो का ध्यान विकास के मुद्दों से हटाकर बेतुकी बातो में लगाने की कोशिश की जो लोगों को पसंद नहीं आई.”

जयेंद्र दत्त ने बीबीसी हिंदी के फ़ेसबुक पर पोस्ट किया, “जिस महंगाई डायन और कुप्रशासन की वजह से कांग्रेस की सरकार को हटा कर जनता आपकी सरकार लाई, आपने उस महंगाई कुप्रशासन भ्रष्टाचार को और बढ़ावा दिया.”

चंदन पासवान लिखते हैं, “आरक्षण हटाने पर मोहन भागवत का जिस दिन बयान आया था, उसी दिन मैने कह दिया था कि भाजपा हारेगी.”

चौधरी अशफ़ाक अहमद के मुताबिक़, “सांप्रदायिक ताकतों को इससे बड़ा जवाब और क्या होगा कि प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री से हार जाए. बिहार की जनता ने यह साबित कर दिया कि वह विकास चाहती है, मन्दिर और गाय पर झगड़े नहीं.”

अनुज सिंह हार के बावजूद भारतीय जनता पार्टी और नरेंद्र मोदी के साथ हैं. वे लिखते हैं, “मैंने बीजेपी को वोट दिया और मुझे अपने फैसले पर ख़ुशी है. बिहार में जातिवादी और तुष्टीकरण की राजनीति जीती. यह ऐसा विवाह है जिसकी सगाई में ही पता है की तलाक बहुत जल्द होगा!”

इमेज कॉपीरइट AP

विपिन पांडेय ने व्यंग्य करते हुए पोस्ट किया, “अब बिहार के लोग पैसे कमाने महाराष्ट गुजरात पंजाब नही जाएंगे. बिहार में रह कर चारा खाएंगे.”

संतोष कुमार ने तल्ख़ अंदाज में लिखा, “बिहार का बहुमत.....(कुछ और खाना पसंद करता है) तो मोदी जी विकास की मिठाई कैसे खिला सकतें हैं? हे ईश्वर! अब हमारे बिहार की रक्षा करो.“

मल्होत्रा जी सिंह के मुताबिक़, “बिहार चुनावों के नतीजों के बाद गुजरात, महाराष्ट्र, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली आदि प्रदेशों के लोग सबसे ज़्यादा खुश होंगे. भाई, अगले कुछ साल और सस्ते बिहारी मजदूर आसानी से जो मिलेंगे.”

इमेज कॉपीरइट Manish Saandilya

इरम अंसारी ने लिखा, “अगर आप गाय की पूँछ देर तक पकडे रखोगे तो गाय का गोबर ही हाथ आएगा. भाजपा के हाथ में गोबर आया.”

अभिषेक साहू ने तंज कसते हुए पोस्ट लिखा, “बिहार को जंगल राज 2 मुबारक़!”

रिज़वान अहमद लिखते हैं, “पाकिस्तान में पटाखों की भारी बिक्री. बेचने के लिए पटाखे कम पड़ रहे हैं, इसलिए चीन से आयात किए जा रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार