"हाथी चले बिहार... भौंके हज़ार"

शत्रुघ्न सिन्हा और कैलाश विजयवर्गीय इमेज कॉपीरइट twitter

भारतीय जनता पार्टी के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा और पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बीच तीखी ज़ुबानी जंग जारी है.

शत्रुघ्न ने ट्वीट किया, "लोग चाहते हैं कि विजयवर्गीय के बयान पर मैं प्रतिक्रिया दूं. पार्टी की छोटी-बड़ी मक्खियों के लिए मेरी प्रतिक्रिया है, हाथी चले बिहार.......भूंके हज़ार."

विजयवर्गीय ने सोमवार को शत्रुघ्न सिन्हा पर एक विवादास्पद बयान दिया था.

उन्होंने कहा था, "जब गाड़ी चलती है तो कुत्ता नीचे चलता है, कुत्ता समझता है गाड़ी मेरे भरोसे चल रही है. पार्टी किसी एक व्यक्ति के भरोसे नहीं चलती है."

कैलाश विजयवर्गीय ने यह भी कहा था कि शत्रुघ्न सिन्हा की पहचान पार्टी से है, पार्टी की पहचान उनसे नहीं है.

इसके पहले शत्रुघ्न सिन्हा ने सोमवार को पटना में नीतीश कुमार और लालू प्रसाद से मुलाक़ात की थी.

उन्होंने इस मुलाक़ात को पूरी तरह से निजी क़रार दिया, लेकिन दोनों नेताओं की जमकर तारीफ़ की.

इमेज कॉपीरइट AFP

नीतीश से मिलने के बाद सिन्हा ने कहा कि वो महागठबंधन की शानदार जीत की बधाई देने के लिए आए थे.

शत्रुघ्न ने कहा कि नीतीश कुमार एक आज़माए हुए और सफल मुख्यमंत्री हैं. उनके अनुसार नीतीश कुमार के कामकाज का रिकॉर्ड भी बहुत अच्छा रहा है.

लेकिन नतीजों के बारे में उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की हार की ज़िम्मेदारी तय होनी चाहिए.

कैलाश विजयवर्गीय उनके इन बयानों पर प्रतिक्रिया दे रहे थे.

इमेज कॉपीरइट VIPUL GUPTA
Image caption मध्यप्रदेश के भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय पहले भी आपत्तिजनक बयान देते रहे हैं.

इस बीच केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने शत्रुघ्न सिन्हा के ख़िलाफ़ कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि बिहार चुनाव में मोदी सरकार के ख़िलाफ़ बहुत बड़ी साज़िश रची गई थी और शत्रुघ्न सिन्हा भी उसका हिस्सा थे.

उन्होंने कहा कि उन्हें पूरा यक़ीन है कि पार्टी उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई करेगी.

बिहार चुनाव में अपनी अनदेखी से नाराज़ चल रहे शत्रुघ्न सिन्हा ने रविवार को नतीजे आने के बाद कहा था कि चुनाव को लेकर कई नेताओं ने प्रधानमंत्री को भ्रमित किया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

सिन्हा ने पिछले कुछ दिनों में कुछ मुद्दों पर पार्टी लाइन से अलग राय व्यक्त की है और बिहार के चुनाव प्रचार में भी वो कम नज़र आए.

चुनाव के नतीजे आने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट किया था कि बिहारी और बाहरी वाला मुद्दा हमेशा के लिए सुलझ गया है.

उन्होंने ट्वीट किया था, ''हमारे विजयी दोस्तों को बधाई और हमारे लोगों से आत्ममंथन करने की अपील है, नतीजे स्पष्ट दिख रहे थे.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार