नीतीश पाँचवीं बार बने बिहार के मुख्यमंत्री

नीतीश कुमार इमेज कॉपीरइट AP

जनता दल (यूनाइटेड) के नेता नीतीश कुमार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है. राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.

नीतीश कुमार पाँचवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री बने हैं.

वे महागठबंधन के तहत लालू प्रसाद यादव की राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बना रहे हैं.

नीतीश के बाद राजद प्रमुख लालू यादव के बेटों तेजस्वी और तेजप्रताप ने मंत्री पद की शपथ ली.

शपथ लेते हुए लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने 'अपेक्षित' को 'उपेक्षित' पढ़ दिया तो राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने उनसे अपेक्षित दोबारा पढ़ने को कहा.

ये हैं नीतीश के मंत्री

तेजस्वी प्रसाद यादव, तेजप्रताप यादव, अब्दुल बारी सिद्दीक़ी, बिजेंद्र प्रसाद यादव, राजीव रंजन सिंह उर्फ़ लल्लन सिंह, अशोक चौधरी, श्रवण कुमार, जय कुमार सिंह, आलोक कुमार मेहता, चंद्रिका राय, अवधेश कुमार सिंह, कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा, महेश्वर हजारी, अब्दुल जलील मस्तान, राम विचार राय, शिवचंद्र राम, डॉक्टर मदन मोहन झा, शैलेश कुमार, मंजू वर्मा, संतोष कुमार निराला, अब्दुल गफ़ूर, चंद्रशेखर, ख़ुर्शीद उर्फ़ फ़िरोज़ अहमद, मुनेश्वर चौधरी, मदन सैनी, कपिल देव कामत, अनिता देवी और विजय प्रकाश.

नीतीश ने अपने शपथग्रहण में शामिल होने के लिए देशभर के नेताओं को न्यौता दिया है.

राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष अजीत सिंह और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी भी समारोह में पहुँचे.

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, माकपा नेता डी राजा, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, वरिष्ठ भाजपा नेता वेंकैया नायडु और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी समारोह में शामिल हैं.

पिछले दिनों संपन्न विधानसभा चुनावों में महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय जनता दल ने 80, जनता दल यूनाइटेड ने 71, कांग्रेस ने 27 सीटें जीती थी, जबकि भाजपा को सिर्फ़ 53 सीटों पर जीत हासिल हुई थी.

शपथ ग्रहण से पहले ट्वीट करते हुए नीतीश ने कहा, "उन सभी लोगों का शुक्रिया जिन्होंने शपथग्रहण समारोह के लिए वक़्त निकाला."

नीतीश ने कहा, "आज का मौक़ा बड़ा मौक़ा है, बिहार का चुनाव देश का चुनाव बन गया है. शपथग्रहण भी उसी अंदाज़ में होगा. कल हम सबने बैठकर एक संतुलित मंत्रिमंडल बनाया है. दिक़्क़त ये है कि सबके पास सीमित संख्या है. क़ानून के तहत हमने कोशिश की संतुलित मंत्रिमंडल गठित किया जाए."

शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने आए नेशनल कॉन्फ़्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फ़ारूख़ अब्दुल्ला ने कहा कि नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री बनने की तैयारी करनी चाहिए.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने महागठबंधन को आगे बढ़ाने का संदेश देते हुए कहा, "हमें निमंत्रण मिला है तो हम आए हैं. महागठबंधन की वैसी ही छवि रखनी चाहिए, ये लोगों की अपेक्षा है, उसी के अनुसार हम चल रहे हैं."

भारतीय जनता पार्टी ने भी नीतीश कुमार को शुभकामना दी है.

भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नक़वी ने कहा "उम्मीद है जो जनादेश बिहार की जनता ने उन्हें दिया है उस पर वो खरे उतरेंगे, केंद्र सरकार बिहार के विकास के लिए प्रदेश सरकार की मदद के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी शुभकामनाएं नीतीश कुमार के साथ हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)