अल-क़ायदा के लिए 'मरा कश्मीरी चरमपंथी'

शबीर अहमद इमेज कॉपीरइट majid jahangir
Image caption भारत प्रशासित कश्मीर के शबीर अहमद भी इस वीडियो में है

इस्लामी चरमपंथी संगठन अल-क़ायदा ने दावा किया है कि उसके एक कमांडर क़ारी बशीर के साथ भारत प्रशासित कश्मीर के एक व्यक्ति शब्बीर डार भी इसी साल वज़ीरिस्तान में हुए ड्रोन हमलों में मारे गए.

अल-क़ायदा की तरफ़ से जारी एक वीडियो में अल-क़ायदा के कमांडर क़ारी बशीर के साथ शब्बीर अहमद डार को भी दिखाया गया है.

वीडियो सामने आने के बाद शब्बीर के बड़े भाई नज़ीर अहमद ने पुष्टि की है कि अल-क़ायदा ने जिस वीडियो को जारी किया है उसमें उनका भाई शब्बीर है.

इमेज कॉपीरइट majid jahangir
Image caption शबीर का घर

नज़ीर अहमद डार ने बीबीसी को बताया, "18 नवंबर को पुलिस के कुछ लोग रात के दस बजे हमारे घर आ गए और हमें तस्वीर दिखा कर बताया गया कि इस तस्वीर की पहचान करो. जब हमने तस्वीर देखी तो हमने कहा कि ये तो हमारा भाई शब्बीर है."

"अब हमने वो वीडियो भी देखा, जो अल-क़ायदा ने जारी किया है. उस वीडियो में हमने अपने भाई शब्बीर को पहचान लिया है."

शब्बीर के परिजनों के मुताबिक़, शब्बीर 23 अगस्त 2001 को घर से अचानक ग़ायब हो गए और चार महीने बाद पता चला कि वो पाकिस्तान में हैं.

नज़ीर अहमद बताते हैं, "जब शब्बीर घर से ग़ायब हुआ तो चार महीने बाद हिज़बुल मुजाहिदीन चरमपंथी संगठन ने हमें बताया कि वो पाकिस्तान पहुंच गया है. उसको मत ढूंढो."

इमेज कॉपीरइट majid jahangir
Image caption शबीर के पिता

शब्बीर जब ग़ायब हुए, तो उनकी उम्र 15 साल थी.

पुलिस ने आधिकारिक तौर पर इस बात की पुष्टि नहीं की है कि शब्बीर अल-क़ायदा चरमपंथी थे या नहीं.

जम्मू कश्मीर के महानिरीक्षक जनरल जावेद जिलानी बताते हैं, "अभी हम आधिकारिक तौर पर इस बात की पुष्टि नहीं कर सकते कि शब्बीर अल-क़ायदा का चरमपंथी था या नहीं. अभी हम इसकी जांच कर रहे हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार