मोदी पर सवाल पूछ कर फंसे राहुल!

राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट EPA

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के लिए बेंगलुरू में माउन्ट कार्मेल कॉलेज में छात्राओं के बीच थोड़ी उलझन भरी स्थिति पैदा हो गई.

छात्राओं को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने जब पूछा कि क्या केन्द्र सरकार के 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम में काम हो रहा है तो कुछ छात्राओं ने कहा, "हां''.

राहुल गांधी ने इसी तरह 'स्वच्छ भारत अभियान' के बारे में सवाल पूछा तो कुछ छात्राओं ने जवाब दिया, "हां."

तीसरी बार सवाल करते हुए राहुल ने पूछा कि क्या आपको लगता है कि युवाओं को नौकरियां मिल रही है तो वहां मौजूद ज्यादातर छात्राओं ने कहा, "नहीं."

जिसके बाद राहुल ने कहा, ''मुझे तो इन कार्यक्रमों में कोई काम होता नहीं दिखता.''

कार्यक्रम के बाद राहुल गांधी ने कहा कि 'स्वच्छ भारत' और 'मेक इन इंडिया' पर छात्राओं में कुछ असमंजस था, लेेकिन बातचीत अच्छी रही.

उन्होंने कहा कि संसद के शीतकालीन सत्र में कांग्रेस असहिष्णुता और प्रधानमंत्री की चुप्पी का मुद्दा उठाएंगे. इसके अलावा कांग्रेस भाजपा शासित राज्यों में भ्रष्टाचार का मुद्दा भी उठाएंगी.

इमेज कॉपीरइट AFP

माउन्ट कार्मेल कॉलेज में राहुल गांधी ने सूट-बूट की सरकार का ताना कसते हुए कहा कि प्रधानमंत्री को लगता है कि देश सिर्फ़ प्रधानमंत्री कार्यालय से चल सकता है, लेकिन 1.30 अरब लोगों का जीवन एक व्यक्ति नहीं बदल सकता.

गुड्स एन्ड सर्विस टैक्स (जीएसटी) पर केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी जीएसटी पास करना चाहती है लेकिन पर तीन मुद्दों पर पार्टी को एतराज़ है.

गुरुवार से संसद का शीतकालीन सत्र शुरू हो रहा है और इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने जीएसटी का मुद्दा उठाया है और कहा है कि ये देश के लिए ज़रूरी है.

वहीं असहिष्णुता के मु्द्दे पर राहुल गांधी ने कहा कि भारत का अर्थ है 'जियो और जीने दो' लेकिन भाजपा और आरएसएस की सोच एक-दूसरे से लड़ाने की है जिससे देश को नुक़सान होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार