पूरा विश्व जलवायु परिवर्तन से चिंतित: मोदी

मोदी इमेज कॉपीरइट EPA

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जलवायु परिवर्तन के संकट पर चिंता जताते हुए कहा है कि इससे निपटने के लिए क्षमता निर्माण ज़रूरी हो गया है.

मोदी ने आकाशवाणी पर प्रसारित 'मन की बात' कार्यक्रम में रविवार को कहा कि जलवायु परिवर्तन का प्रभाव कितनी तेज़ी से बढ़ रहा है. अब हम लोग अनुभव कर रहे हैं.

मोदी जलवायु परिवर्तन पर पेरिस में हो रहे सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए रविवार को रवाना हो रहे हैं.

अपने कार्यक्रम 'मन की बात' में उन्होंने कहा कि देश में पिछले दिनों अति वर्षा और बेमौसमी वर्षा देखने को मिली है. तमिलनाडु में नुक़सान हुआ और दूसरे राज्यों पर इसका असर हुआ.

इमेज कॉपीरइट EPA

मोदी ने कहा कि पूरा विश्व जलवायु परिवर्तन से चिंतित है. क्लाइमेट चेंज, ग्लोबल वार्मिंग, डगर-डगर पर उसकी चर्चा है, चिंता भी है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि हर स्तर पर हमें क्षमता निर्माण के लिए काम करना ज़रूरी हो गया है. सार्क देशों को मिलकर आपदा से निपटने के लिए साझा अभ्यास करना चाहिए.

प्रधानमंत्री ने कहा कि पृथ्वी का तापमान अब बढ़ना नहीं चाहिए, ये हर किसी की ज़िम्मेदारी है.

उन्होंने कहा कि पृथ्वी का तापमान बढ़ने से रोकने का सबसे पहला रास्ता है, ऊर्जा की बचत. इस संबंध में सरकार की तरफ़ से कई योजनाएं चल रही हैं.

इमेज कॉपीरइट MANJUL

कश्मीर के जावेद अहमद के जज़्बे का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा कि चरमपंथियों ने 1996 में उन्हें गोली मार दी थी जिससे वह विकलांग हो गए.

उन्होंने अपने जीवन को समाजसेवा में अर्पित कर दिया और पिछले 20 साल से बच्चों को पढ़ा रहे हैं.

मोदी ने कहा कि जावेद विकलांगों के लिए व्यवस्थाएं विकसित करने का काम करके एक मौन क्रांति कर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार