आरएसएस ने मंदिर में जाने से रोका: राहुल

इमेज कॉपीरइट EPA

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया है कि असम दौरे के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने उन्हें एक मंदिर में जाने से रोका.

उन्होंने कहा कि इसके लिए आरएसएस कार्यकर्ताओं ने महिलाओं को हथियार बनाया. उन्होंने कहा कि आरएसएस कार्यकर्ताओं के वहां से चले जाने के बाद वो शाम को बिना किसी रोक के मंदिर में गए.

कांग्रेस ने सोमवार को केरल, पंजाब और असम के मुद्दे पर संसद भवन परिसर में प्रदर्शन किया.

इमेज कॉपीरइट GOVT OF KERALA

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने आरोप लगाया कि केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी को उस कार्यक्रम में जाने से रोका जा रहा है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाग लेने वाले हैं. उन्होंने कहा कि चांडी केरल के लोगों को प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. इसलिए यह केरल के लोगों का अपमान है और यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि पंजाब में निर्दोष लोगों को काटा जा रहा है. दलितों को मारा जा रहा है.

उन्होंने इन तीन घटनाओं को जोड़ते हुए कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच का परिणाम है.

उनका कहना था, ''यह उनके काम करने का तरीक़ा है, एक कांग्रेसी मुख्यमंत्री को कार्यक्रम में जाने से रोको, मंदिर जाने से रोको और दलितों को मारो. केरल, असम, पंजाब और पूरे देश के लोगों को ये स्वीकार नहीं होगा. सरकार को काम करने का अपना तरीक़ा बदलना होगा.''

इमेज कॉपीरइट Ravinder Singh Robin

वहीं दिल्ली में रेलवे की ज़मीन से अतिक्रमण हटाने के लिए 500 झुग्गियों को तोड़ने और इस दौरान कथित तौर पर हुई एक बच्ची की मौत को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) और तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने संसद भवन परिसर में गांधी प्रतिमा के पास प्रदर्शन किया.

प्रदर्शन करने वाले सांसद अपने हाथों में ' रहम करो मोदी सरकार, बंद करो ग़रीबों पर अत्याचार', जैसे नारे लिखे हुए बैनर लिए हुए थे.

राहुल गांधी ने भी सोमवार की सुबह प्रभावित इलाक़े का दौरा किया और पीड़ितों से मुलाक़ात की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार