‘केजरीवाल जैसी भाषा हम बोलते तो हंगामा हो जाता’

अरुण जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के नेताओं पर सार्वजनिक बहसों को निचले स्तर पर ले जाने का आरोप लगाया है.

गुरुवार को अपनी एक फ़ेसबुक पोस्ट में जेटली ने कहा कि सम्मानजनक पदों पर रहने वालों के लिए अभद्र भाषा शोभा नहीं देती.

दिल्ली क्रिकेट संघ (डीडीसीए) में भ्रष्टाचार के मामले पर केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के नेताओं की ओर से जेटली पर लगातार हमला किया जा रहा है.

जेटली ने लिखा है, “दिल्ली के माननीय मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री और अन्य लोगों के ख़िलाफ़, दिल्ली विधानसभा में और उसके बाहर दिए गए बयान के बारे में क्या कहा जाए? अगर केंद्र सरकार से जुड़ा कोई भी व्यक्ति इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करता तो पूरे देश में हंगामा खड़ा हो जाता.”

इमेज कॉपीरइट AFP

केजरीवाल ने दिल्ली सचिवालय पर सीबीआई छापे को लेकर एक ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘कायर’ और ‘मनोरोगी’ बताया था.

केजरीवाल की भाषा को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई थी और शिवसेना ने अपशब्दों के इस्तेमाल को ग़लत बताया था.

इमेज कॉपीरइट PTI

जेटली ने अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के अन्य नेताओं के ख़िलाफ़ आपराधिक मानहानि का मुक़दमा दायर किया है.

जेटली ने सवाल उठाया है, “क्या अभद्रता भारतीय राजनीति का नया चलन बन गई है?”

इसका ख़ुद ही जवाब देते हुए वो कहते हैं, “मैं उम्मीद करता हूँ कि ऐसा नहीं है. सार्वजनिक बहसों को घटिया स्तर पर ले जाना कभी भी राजनीति के लिए ठीक नहीं हो सकता.”

बुधवार को एक कार्यक्रम में भी जेटली ने कहा था कि भारत में सार्वजनिक बहसें अभद्र हो गई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार