कार योजना पर वाड्रा और आप में 'पाखंड युद्ध'

रॉबर्ट वाड्रा इमेज कॉपीरइट Getty

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा ने वीआईपी गाड़ियों को दिल्ली सरकार की सम-विषम नीति से छूट दिए जाने को पाखंड कहा है.

वहीं आम आदमी पार्टी ने रॉबर्ट वाड्रा की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्हें ही 'सबसे बड़ा पाखंडी' कहा है.

पार्टी के दिल्ली सचिव दिलीप पांडे ने एक प्रेसवार्ता में कहा, "वो सबसे बड़े पाखंडी है और पाखंड की बात कर रहे हैं. उन्हें बताना चाहिए कि आज तक उन्होंने देश या राष्ट्र के लिए क्या योगदान दिया है. उन्हें नीति पर टिप्पणी करने के बजाए इस कामयाब करने में योगदान देना चाहिए."

एक फ़ेसबुक पोस्ट में वाड्रा ने कहा था, "सम-विषम में छूट के लिए सामांतर सूची बनाना पाखंड है. अगर जनहित में कोई क़ानून लागू किया जा रहा है तो सभी को उसे मानना चाहिए न कि वीआईपी बनना चाहिए."

दिल्ली सरकार एक जनवरी से राजधानी में पंद्रह दिनों के लिए परीक्षण के तौर पर सम-विषम नीति लागू कर रही है जिसके तहत सुबह आठ से शाम आठ बजे तक तारीख़ के आधार पर नंबर प्लेट वाली गाड़ियां ही चल सकेंगी.

हालांकि इसमें कुछ गाड़ियों को छूट दी गई है जिनमें वीआईपी गाड़ियां भी शामिल हैं.

इस योजना की मुख्य बातें हैं -

  • यह योजना एक से 15 जनवरी तक प्रयोग के तौर पर शुरू होगी.

  • इसमें एक दिन सम नंबरप्लेट और अगले दिन विषम नंबरप्लेट वाले वाहनों को सड़कों पर चलने की इजाज़त होगी.

  • योजना में अभी केवल कारें शामिल की गई हैं. योजना की समीक्षा कर इसमें दोपहिया वाहनों को शामिल करने या न करने पर फ़ैसला होगा.
  • यह फ़ॉर्मूला सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक लागू रहेगा.

  • विकलांग और महिला चालकों को योजना में छूट होगी. महिला चालकों के साथ 12 साल तक का बच्चा यात्रा कर सकता है.

  • नियम तोड़ने वालों पर 2000 रुपए का जुर्माना लगेगा.
  • अधिक किराया लेने वाले ऑटो चालकों पर जुर्माना लगाया जाएगा.

  • राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष, राज्यसभा के सभापति, संसद के दोनों सदनों के नेता विपक्ष, एसपीजी सुरक्षा प्राप्त लोगों, राज्यपालों, सुप्रीम कोर्ट के सभी जजों, सेना, अर्धसैनिक बलों, पुलिस और एंबुलेंस वाहनों को योजना में छूट दी गई है.

  • सीएनजी, इलेक्ट्रिक और हाइब्रिड कारों को भी योजना में छूट दी जाएगी.

  • दिल्ली के मुख्यमंत्री को भी इसका पालन करना होगा.

  • योजना लागू होने पर लोगों को दिक़्क़त न हो, इसके लिए 10 हज़ार नए ऑटो परमिट जारी किए गए हैं.

  • दिल्ली सरकार ऑटो मंगवाने और कार पूलिंग के लिए ऐप लाएगी.
  • सम नंबर 0, 2,4,6,8 और 1,3,5,7,9 विषम नंबर हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)