'केंद्र कुछ करे, डीडीसीए जांच जारी रहेगी'

अरविंद केजरीवाल इमेज कॉपीरइट AFP

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि अगर केंद्र सरकार डीडीसीए घोटाले में जांच आयोग के गठन को सही नहीं ठहराती, तब भी सुब्रमण्यम आयोग का काम जारी रहेगा.

पूर्व सॉलिसिटर जनरल गोपाल सुब्रमण्यम कथित डीडीसीए घोटाले की जांच के लिए बनाए गए आयोग के अध्यक्ष हैं. उन्होंने मंगलवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल को चिट्ठी लिखकर जांच के लिए काबिल अफ़सरों के नाम बताने की मांग की थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार केजरीवाल ने दावा किया है कि गृह मंत्रालय ने आयोग के गठन का मामला पीएमओ को भेज दिया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

केजरीवाल ने ट्वीट किया, "क्या यह सच है कि गृह मंत्रालय ने डीडीसीए फ़ाइल का मुद्दा पीएमओ को भेज दिया है ताकि वह तय करे कि आयोग का गठन ग़ैरक़ानूनी है या नहीं? प्रधानमंत्री क्या करेंगे- इसे ग़ैरक़ानूनी क़रार देंगे या जांच की अनुमति देंगे? हालांकि इसका जांच के जारी रहने पर कोई असर नहीं पड़ेगा."

दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग ने डीडीसीए की जांच के आयोग गठित करने के दिल्ली सरकार के कानूनी अधिकार पर सवाल उठाए थे.

इमेज कॉपीरइट PIB

उधर भारतीय जनता पार्टी ने गोपाल सुब्रमण्यम पर कथित डीडीसीए घोटाले की जांच के लिए केंद्र से अधिकारी मांगकर राजनीति करने का आरोप लगाया है.

पीटीआई के अनुसार बीजेपी के सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा, "डीडीसीए की जांच करवाना दिल्ली सरकार के अधिकार क्षेत्र में नहीं आता क्योंकि यह कंपनी एक्ट के तहत एक सोसायटी के रूप में पंजीकृत है. सुब्रमण्यम केजरीवाल की शह पर यह ड्रामा कर रहे हैं जिन्हें असंवैधानिक निर्णय लेने की आदत है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार