केजरीवाल, कीर्ति पर मानहानि का दावा करेगा डीडीसीए

चेतन चौहान इमेज कॉपीरइट PTI

डीडीसीए के कार्यकारी अध्यक्ष चेतन चौहान ने डीडीसीए के कथित घोटाले पर 'आप' के लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया है.

आम आदमी पार्टी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर 2012 में पुलिस जांच में बाधा डालने और घोटाले में शामिल लोगों को बचाने का आरोप लगाया था.

वर्ष 2013 तक जेटली डीडीसीए के अध्यक्ष थे और उनके कार्यकाल में करो़ड़ों के घपले होने के आरोप लगे हैं जिनसे वो इनकार करते हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार डीडीसीए ने कहा है कि वह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कीर्ति आज़ाद पर मानहानि का मुकदमा करेगी.

दिल्ली एवं डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के कार्यकारी अध्यक्ष चेतन चौहान ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा है कि आम आदमी पार्टी 'हवा में आरोप' लगा रही है.

एक भारतीय टीवी चैनल को इंटरव्यू में मुख्यमंत्री केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि एक खेल अधिकारी ने एक बच्चे की मां से एसएमएस में कहा था कि वो रात में उन्हें मिलें तो बच्चे का टीम में सिलेक्शन हो सकता है.

इमेज कॉपीरइट AFP

चेतन ने कथित डीडीसीए घोटाले को एक 'गंभीर मसला' बताया.

उन्होंने कहा, "चिट्ठी और एसएमएस तो कोई भी किसी के लिए कह सकता है. यदि ऐसी कोई शिकायत आई है तो हमारे पास नहीं आई है. यदि ऐसी कोई शिकायत है तो चुपके से हमें बताएँ, हम उन शिकायतों की जांच कराएँगे और ज़िम्मेदार लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करेंगे.

उन्होंने कहा "यदि डीडीसीए का कामकाज इस तरह का होता तो विराट कोहली जैसे खिलाड़ी आज टीम की कप्तानी न कर रहे होते."

उधर डीडीसीए के सेक्रेटरी सुनील देव ने कहा कि डीडीसीए के अध्यक्ष के तौर पर अरुण जेटली को अधिकार था कि वे इस संस्था का बचाव करें और चिट्ठी लिख सकें.

उन्होंने कहा कि 14 साल से कम उम्र की कैटगरी में ख़िलाड़ियों के चुनाव के मामले में 4 ऐसे ख़िलाड़ियों का चुनाव किया गया जो बीपीएल परिवार से थे और 2 स्लम में रहते थे. ऐसे में ग़रीब लड़कों के चुनाव में पैसे लेने की बात झूठी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार