'मोदी अफ़सरों के कंधे पर रखकर बंदूक चला रहे हैं'

केजरीवाल इमेज कॉपीरइट AFP

दिल्ली प्रशासन के दो अधिकारियों के निलंबन का मामला अब केजरीवाल सरकार बनाम केंद्र सरकार की बहस में तबदील हो गया है.

केजरीवाल सरकार का दानिक्स काडर के दो अफ़सरों का निलंबन केंद्रीय गृह मत्रालय ने अस्वीकार्य ठहराया है.

दिल्ली एंडेमान निकोबार सिविल सर्विस (दानिक्स) यानी यूटी काडर के कई अफ़सर केजरीवाल सरकार के फ़ैसले पर नाराज़गी जताते गुरुवार को सामूहिक तौर पर छुट्टी पर रहे.

उधर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मोदी सरकार और अफ़सरों के ख़िलाफ़ ट्वीट्स की बौछार की है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि 'नरेंद्र मोदी इन अफसरों और एलजी के कंधे पर रखकर बंदूक चला रहे हैं और दिल्ली में दानिक्स और आईएएस असोसिएशन बीजेपी की बी-टीम बन गई हैं.'

केजरीवाल ने ट्वीट किया कि सरकार इन अफ़सरों को पूरा वेतन देकर लंबी छुट्टी देने को तैयार है.

केजरीवाल ने कहा, "नौकरशाहों की जगह पर प्रोफेशनल्स और विशेषज्ञों को सरकार में रखने का वक्त आ गया है. प्रशासन में ताज़े विचार और ऊर्जा का संचार करना होगा."

उन्होंने ट्वीट किया, "दिल्ली सरकार उन सभी अफसरों के खिलाफ विकल्प तलाश रही है जो आज छुट्टी पर हैं. चोरी और सीनाज़ोरी? सरकार भ्रष्टाचार और अवहेलना को बर्दाश्त नहीं करेगी."

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी ट्विटर के ज़रिए लिखा कि वो अपने अनुभव के आधार पर ये कह सकते हैं कि दिल्ली सरकार में कुछ अफसरों की गैर-मौजूदगी से लोगों की ज़िंदगी बेहतर और ज़्यादा आसान हो जाएगी.

दानिक्स काडर के अधिकारी दिल्ली और अन्य केंद्र शासित प्रदेशों में प्रशासनिक कार्यों के लिए तैनात किए जाते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार