सांसद कीर्ति आज़ाद को भाजपा का नोटिस

इमेज कॉपीरइट PTI Reuters

डीडीसीए में कथित घोटाले के मुद्दे को ज़ोरशोर से उठाने वाले भाजपा सांसद कीर्ति आज़ाद को पार्टी ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार कीर्ति आज़ाद से 10 दिन के भीतर ये बताने के लिए कहा गया है कि उन्हें पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण पार्टी से बर्ख़ास्त क्यों न किया जाए.

इससे पहले उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया गया था.

उस समय उन्होंने इसे दुर्भाग्यपूर्ण फैसला बताया था और चेतावनी देने वाले अंदाज़ में ये भी कहा था कि 'आगे आगे देखिए क्या होता है'.

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने उस समय ये भी कहा था, "बड़ी ख़ुशी की बात है कि भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ने वाले को भारतीय जनता पार्टी ने निलंबित किया है."

हालांकि ये मामला सुर्खियों में तब आया जब दिल्ली सचिवालय में सीबीआई के छापे के दौरान मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ये दावा किया कि उनके दफ़्तर को सील किया गया है और सीबीआई डीडीसीए से संबंधित फ़ाइलें खोज रही है.

उन्होंने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर डीडीसीए में भ्रष्टाचार करने वालों को बचाने के आरोप लगाए थे. जेटली 2013 तक डीडीसीए के अध्यक्ष थे और इन सभी आरोपों को ख़ारिज करते हैं.

कीर्ति आज़ाद ने इस मामले में वीडियो दिखाया था लेकिन बाद में ये भी कहा था कि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया है, बल्कि वो तो डीडीसीए में भ्रष्टाचार के मुद्दे को बरसों से उठा रहे हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार