पुलिस ने गुप्तांग में पेट्रोल डाला, 3 बर्खास्त

पुलिस इमेज कॉपीरइट Reuters

पंजाब में तीन पुलिसकर्मियों को हिरासत में लिए गए दो नौजवानों के उत्पीड़न के आरोप में बर्खास्त कर दिया गया है.

संगरूर ज़िले में पुलिस की हिरासत में उत्पीड़न का शिकार हुए एक व्यक्ति को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

संगरूर के पुलिस अधीक्षक प्रीतपाल सिंह ने बीबीसी से घटना की पुष्टि करते हुए कहा, "क़सूरवार पुलिसकर्मियों पर सख़्त कार्रवाई की जा रही है. तीन पुलिसकर्मियों को बर्खास्त किया गया है. उन पर संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर जेल भेज दिया गया है."

पुलिस गुरुवार शाम दो लोगों को पूछताछ के लिए थाने लाई थी. आरोप है कि पुलिस ने हिरासत में इन लोगों की पिटाई की.

हालत गंभीर होने पर एक पीड़ित को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पीड़ित ने बीबीसी को बताया, "मुझे ज़बरदस्ती पकड़कर ले गए और मेरे गुप्तांगों में पेट्रोल भरकर मुझे पीटा."

इमेज कॉपीरइट robin singh

पीड़ित का कहना है कि उसे शराब तस्करी के झूठे आरोप में हिरासत में लिया गया था.

पीड़ित ने कहा है कि पुलिस उसका उत्पीड़न कर झूठे मुक़दमे में फंसाना चाहती थी.

घटना की गंभीरता को देखते हुए डीआईजी बलकार सिंह ने भी संबंधित थाने का दौरा किया है.

हाल ही में पंजाब के अबोहर में दो दलितों के हाथ-पैर काटे जाना का मामला भी सामने आया था.

इस मामले में एक पीड़ित की मौत हो गई है जबकि पुलिस मुख्य अभियुक्त को अभी तक गिरफ़्तार नहीं कर सकी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार