पूर्वोत्तर में भूकंप, 9 की मौत

इमारत से धराशाई इमारत इमेज कॉपीरइट AP

म्यांमार और बांग्लादेश की सीमा से सटे पूर्वोत्तर भारत में आए तेज भूकंप में 9 लोगों की मौत हो गई है.

मणिपुर में 6 जबकि बांग्लादेश में 3 लोगों के मरने की खबर है.

अमरीकी भूगर्भ सर्वेक्षण केंद्र ने भूकंप की तीव्रता शुरू में 6.8 बताई थी जिसे बाद में सुधार कर 6.7 कर दिया गया.

इमेज कॉपीरइट Deepak Shijagurumayum

यूएसजीएस के मुताबिक भूकंप का केंद्र मणिपुर की राजधानी इंफाल से 29 किलोमीटर पश्चिम में था.

भूकंप के झटके स्थानीय समय के मुताबिक 4.35 बजे महसूस किए गए.

इमेज कॉपीरइट Deepak Shijagurumayum

प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार एनडीआरएफ़ की टीमों को गुवाहाटी से प्रभावित इलाकों में जाने के निर्देश दिए गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री नबाम तुकी से भी भूकंप के हालात पर बात की है.

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर बताया कि इलाके में आए भूकंप के हालात पर उन्होंने असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई से फोन पर बात की और पूरी स्थिति का जायजा लिया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

मोदी ने ट्वीट कर ये भी कहा कि वे असम के दौरे पर गए गृहमंत्री राजनाथ सिंह के संपर्क में हैं और भूकंप से जुड़े हालात के पल-पल की खबर ले रहे हैं.

भारत की केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारामन ने ट्वीट किया, "सिलीगुड़ी के सरकारी गेस्ट हाउस में मैंने अपना कमरा हिलता हुआ महसूस किया. उम्मीद है सभी ठीक होंगे."

कोलकाता से ज़ैदुल हक़ ने बीबीसी को बताया, "पूरा पलंग और अलमारी हिल गए. डर के मारे मेरी बेटी चिल्लाने लगी. मेरी बीवी-बेटे समेत सब उठ गए. इतना जोर का झटका मैंने कभी महसूस नहीं किया है. झटका बहुत देर तक रहा और हम यही सोच रहे थे कि क्या किया जाए."

ट्विटर और फ़ेसबुक पर लोगों ने भूकंप के बारे में पोस्ट किया है.

सिलिगुड़ी से सियोन माना ने लिखा, "मेरी नींद खुल गई. पूर्वोत्तर भारत में झटके. कभी सोचा नहीं था कि ऐसे हिलते हुए बिस्तर में सोकर उठूंगा."

इमेज कॉपीरइट Deepak Shijagurumayum
Image caption ये तस्वीर इंफाल के दीपक शिजागुरुमयम ने इंस्टाग्राम और फेसबुक पर पोस्ट की है.

बांग्लादेश की राजधानी ढाका से भी लोगों ने भूकंप के झटके महसूस करने के बारे में लिखा है.

भूकंप के झटके झारखंड के रांची, बिहार के बेगुसराय और गया समेत कई अन्य शहरों में भी महसूस किए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)