रानी के पीछे हुआ पाकिस्तान दीवाना..

फ़िल्म अभिनेत्री रानी मुखर्जी इमेज कॉपीरइट AFP

फ़िल्म अभिनेत्री रानी मुखर्जी एक बार फिर सुर्खियों में हैं, पर ख़ुद की वजह से नहीं.

किसी शख़्स ने रानी मुखर्जी (@rani_mukherjee) के नाम से नकली ट्विटर अकाउंट बना लिया और उस पर लिखा कि भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर में जनमत संग्रह होना चाहिए.

हैंडल के ज़रिए लिखा गया है, "मेरा मानना है कि भारत और पाकिस्तान, दोनों को बाक़ी सब कुछ छोड़ देना चाहिए और कश्मीरी क्या चाहते हैं, इस पर जनमत संग्रह करना चाहिए."

इसी तरह इसी हैंडल के ज़रिए पहले लिखा गया था, "भारतीय मीडिया को बग़ैर किसी सुबूत के पठानकोट हमले के लिए पाकिस्तान पर दोष मढ़ना बंद करना चाहिए. पाकिस्तान ख़ुद चरमपंथ का सबसे बड़ा शिकार है."

इस हैंडल पर किए गए एक और पोस्ट में कहा गया, "जहां तक मैंने महान पैग़बर का जीवन और उनका चरित्र पढ़ा है, वे मानव इतिहास के सबसे महत्वपूर्ण इंसान हैं."

इस पर कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी और इसे पहली नज़र में ही नक़ली क़रार दिया.

नाइला इनायत (@nailainayat) ने लिखा कि रानी मुखर्जी का यह अकाउंट कितना फ़र्जी है!

नंदिता ठाकुर (@nanditathhakur) ने ट्वीट किया, "रानी मुखर्जी यह कथित अकाउंट वेरीफ़ाइड नहीं है और लोग इस पर प्रतिक्रिया जता रहे हैं."

शिखा एस (@shikha_shrivas) ने लिखा, "दिमाग़ का थोड़ा इस्तेमाल तो कर लें. रानी मुखर्जी का यह अकाउंट नकली है." लेकिन पाकिस्तानी मीडिया ने इसे सही मान लिया और यह ख़बर छाप दी.

'द न्यूज़' ने ख़बर छापी कि भारतीय अभिनेत्री रानी मुखर्जी ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान अपने मतभेद भुला दें और जनमत संग्रह के ज़रिए कश्मीर समस्या का निपटारा कर लें.

हालांकि कई पाकिस्तान पत्रकार यह मानते हैं कि यह फ़र्जी अकाउंट है.

पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार ने ट्वीट किया, "पाकिस्तानी अख़बारों! रानी मुखर्जी ट्विटर पर नहीं है. वे अगर ट्विटर पर होतीं, तो उनका अकाउंट वेरीफ़ाइड होता और उन्हें फ़ॉलो करने वालों की तादाद लाखों में होती."

इसी तरह रानी मुखर्जी के कथित फ़ेसबुक पेज पर लिखा गया है, "मानव इतिहास के सबसे महत्वपूर्ण इंसान पैग़बर मुहम्मद-रानी मुखर्जी."

इसे कई लोगों ने 'लाइक' किया और कई लोगों ने इस पोस्ट पर प्रतिक्रिया भी जताई.

एक व्यक्ति ने इसी जगह यह भी लिख दिया कि रानी मुखर्जी के नाम से फ़र्जी ट्विटर अकाउंट चल रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार