दुनिया भर में आकाश से मल क्यों गिरता है?

दिल्ली के सड़क की सफ़ाई इमेज कॉपीरइट Getty

एक अंग्रेज़ी अख़बार में यह ख़बर छपी कि मध्य प्रदेश की राजरानी गौड़ के ऊपर बर्फ़ का एक बड़ा सा टुकड़ा गिरा. फ़ुटबॉल के आकार का बर्फ का यह टुकड़ा उनके कंधे को चोटिल कर गया.

पर इसमें सिर्फ़ बर्फ़ नहीं थी, सिर्फ जमा हुआ पानी नहीं था, कुछ और चीजें भी थीं.

विमानन विशेषज्ञ इसे 'ब्लू आइस' यानी 'नीली बर्फ़' कहते हैं.

यह नीली बर्फ़ दरअसल जमा हुआ मानव मल है, जो कभी कभी हवाई जहाज के टॉयलेट से गिर पड़ता है. यह नीला इसलिए होता है क्योंकि टॉयलेट में बदबू कम करने के लिए इसमें रसायन मिलाया जाता है.

मानव मल का उड़ते हुए हवाई जहाज से गिरना कोई नियमित घटना नहीं है, पर यह नामुमकिन भी नहीं है. इस तरह की घटना कभी कभी ही सही, पर होती है.

इमेज कॉपीरइट Getty

ब्रिटेन के नागरिक विमानन प्राधिकार ने माना है कि हर साल ब्रिटेन के आकाश से तकऱीबन 25 लाख जहाज गुजरते हैं और नीले बर्फ़ के गिरने की लगभग 25 घटनाएं होती हैं.

दरअसल, हवाई जहाजों के टॉयलट में विशेष रूप से बनी टंकियों में मानव मल जमा होते रहते हैं. जहाज के ज़मीन पर उतरने के बाद इन टंकियों को बाहर निकाल लिया जाता है.

पर अंतरराष्ट्रीय विमानन प्राधिकरणों से जुड़े लोग मानते हैं कि बीच उड़ान में टॉयलेट से मल गिरने की घटना हो जाती है.

ब्रिटेन के विल्टशर में रहने वाले कीथ और रुथ मीड के घर के ऊपर ऐसा ही बर्फ़ का गोला गिरा.

इमेज कॉपीरइट Getty

कीथ के मुताबिक़, बर्फ़ के आधे किलो के इस टुकड़े का रंग पीला और भूरा था.

उन्होंने कहा, "यह निश्चय ही उस समय आसमान से गुजर रहे विमान से गिरा था. यह भला और कहां से आ सकता है?"

उनकी दुविधा यह भी है कि वे बीमा कंपनी से क्या कहें. वे कहती हैं, "हम उन्हें क्या यह कहें कि हमारे घर पर जमा हुआ मल और पेशाब गिर पड़ा? क्या बीमा कंपनी इस पर यकीन करेंगी?"

पर यह 'नीली बर्फ़' हमेशा जमी हुई ही हो, यह ज़रूरी नहीं है.

अमरीका के पेन्सिलवेनिया की रहने वाली 16 साल की किशोरी की तो पार्टी ही ख़राब हो गई. बीते साल मई में वे घर पर पार्टी कर रही थीं कि आकाश से मल के टुकड़े गिरने लगे.

इन लड़कियों के सौतेले पिता जो कैंब्रे ने कहा, "न जाने कहां से मल का टुकड़ा आ गिरा."

उनकी बहन क्रिस्टी रोगी ने कहा, "ईश्वर का शुक्र है कि हम उस समय तक केक काट चुके थे. दो मिनट के अंदर आकाश से कुछ गिरा, यह भूरे रंग का था. यह चारों ओर फैल गया."

अमरीकी केंद्रीय विमानन प्राधिकार के पास इसकी शिकायत भी दर्ज कराई गई.

इसी तरह बीते साल न्यूज़ीलैंड हेरल्ड ने ख़बर दी कि ऑकलैंड के एक आदमी ने शिकायत की उनके ऊपर आकाश से कुछ गिरा. उनका मानना है कि यह मानव मल था.

पर विमानन प्राधिकार ने उन्हें बताया कि उस समय वहां से बत्तखों के समूह उड़ रहा था और यह मल उन बत्तखों का था.

यह मानव मल ही था, इसे साबित करना मुश्किल होता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार