बच्चों को कांच पर चलाया, कोचिंग संचालक गिरफ़्तार

इमेज कॉपीरइट PRASHANT DAYAL

गुजरात के वडोदरा में एक कोचिंग क्लास के बच्चों को कांच के टुकड़ों पर चलाने के मामले में पुलिस ने कोचिंग संचालक को गिरफ़्तार कर लिया है.

कुछ दिन पहले कोचिंग संचालक राकेश पटेल ने मीडिया के सामने 12 साल के बच्चों से लेकर उनके अभिभावकों तक को टूटी बोतलों पर चलवाया था.

सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद शिक्षा विभाग ने इस मामले की जाँच के आदेश दिए थे.

ज़िला शिक्षा अधिकारी नवनीत मेहता ने बीबीसी को बताया कि उन्होंने इस बारे में ज़िला अधिकारी अवंतिका सिंह को रिपोर्ट सौंपी थी जिसमें राकेश पटेल को दोषी पाया गया था.

उस रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने ज्युविनाएल जस्टिस एक्ट के तहत कोचिंग संचालक को गिरफ़्तार किया है.

मामला वडोदरा के प्रतापनगर इलाके में परिश्रम कोचिंग का है, जहाँ कक्षा पांच से लेकर कालेज तक के छात्रों को पढ़ाया जाता है.

इमेज कॉपीरइट prashant dayal

इसके संचालक राकेश पटेल अभिज्ञान सोल्यूशन नाम की संस्था भी चलाते है, जिसमें मानसिक ताकत और याददाश्त बढ़ाने के उपाय सिखाए जाते हैं.

दो हफ्ते पहले इसी संस्था में 50 से ज़्यादा विद्यार्थियों को बुलाया गया था और वहाँ एक चादर पर टूटी कांच की बोतलें बिछाई गई थी, इन बोतलों पर उन्हें चलने को कहा गया था.

इस घटना को किसी ने अपने मोबाईल फोन में रिकार्ड कर लिया और कुछ ही मिनटो में ये वीडियो वायरल हो गया.

घटना की जानकारी मिलते ही राज्य के शिक्षा मंत्री भुपेन्द्र सिंह ने वडोदरा के ज़िला शिक्षा अधिकारी को जांच का आदेश दिया.

हांलाकि इस मामले में बीबीसी ने जब संचालक राकेश पटेल सें बात की थी तो उन्होने इसे जायज़ करार देते हुए कहा था कि इसका मकसद सिर्फ़ बच्चों में बैठे डर को निकलाना था.