पाकिस्तानी प्रेमी के लिए कराया सेक्स चेंज

मीरा इमेज कॉपीरइट MEERA

गौरव अपने पाकिस्तानी प्रेमी के लिए सेक्स चेंज कराकर मीरा बन चुके हैं.

कई मुश्किल ऑपरेशनों से गुज़रने के बाद, मीरा अपने होने वाले पति रिज़वान की राह देख रही हैं, यह रिज़वान से उनकी पहली मुलाक़ात होगी.

26 साल के रिज़वान पाकिस्तान के सक्खर शहर में रहते हैं, अभी उनकी पढ़ाई पूरी नहीं हुई है, दोनों की मुलाकात फेसबुक पर हुई जो प्यार में बदल गई.

रिज़वान का इरादा मार्च में भारत आने का है, जब वे शादी करके मीरा को अपने साथ पाकिस्तान ले जाना चाहते हैं.

मीरा कथक डांसर हैं और उन्होंने देश-विदेश में अपनी कला का प्रदर्शन किया है, उन्हें भारत सरकार से स्कॉलरशिप मिल चुकी है और नेपाल के इंस्टीट्यूट ऑफ़ फाइन आर्ट्स से उन्हें गोल्ड मेडल मिल चुका है.

मीरा कहती हैं, "मैंने कथक में पीएचडी के लिए सूफीज़्म को चुना था और इसी सिलसिले में मेरी मुलाकात रिज़वान से फेसबुक पर हुई, हमारी बातें आगे बढ़ती गईं और कुछ समय बाद हमें ये अहसास हुआ कि हम एक-दूसरे से प्यार करते हैं."

जब इस रिश्ते को आगे बढ़ाने का वक़्त आया तो गौरव ने फैसला लिया कि वो सेक्स चेंज करवाएंगे. इस पूरी प्रक्रिया पर अब तक क़रीब 10 लाख रुपये ख़र्च हो चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट MEERA

लेकिन इस सब में पैसे से बड़ी दूसरी मुश्किल है.

वे समलैंगिक की तरह नहीं रहना चाहते थे. मीरा कहती हैं, "मैं रिज़वान के साथ लड़के के तौर पर भी रह सकती थी लेकिन समाज में इसे ग़लत नज़रिए से देखा जाता है इसलिए हमने ये फैसला किया."

ज़ाहिर है, इस रिश्ते पर दोनों ओर से एतराज़ है. रिज़वान कहते हैं, "अलग-अलग देशों में रहकर प्यार करना मुश्किल तो है ही लेकिन अगर वो दो देश भारत और पाकिस्तान हों तो उन मुश्किलें 100 गुना बढ़ जाती हैं."

इस इश्क़ को एक और इम्तहान से गुज़रना पड़ेगा जब रिज़वान भारत आने, शादी करने और मीरा को पाकिस्तान ले जाने की क़ानूनी प्रक्रिया शुरू करेंगे.

रिज़वान ने अभी वीज़ा का आवेदन नहीं दिया है, वहीं मीरा को अपने सभी काग़ज़ात एक महिला के तौर पर दोबारा बनवाने होंगे, जिसके बाद वो एक शादी-शुदा महिला के तौर पर पाकिस्तान जाने की अर्ज़ी दे सकेंगी.

इमेज कॉपीरइट MEERA

मीरा कहती हैं, "मेरे परिवार वालों ने एक लड़का पैदा किया था, उनके लिए मेरा ये फैसला बहुत बड़ा झटका था कि मैं लड़की बन जाऊँ. लेकिन अब उन्हें भी मेरा ये फैसला मंज़ूर है."

रिज़वान कहते हैं, "हम तो बस ये चाहते हैं कि मज़हब और सरहदों के जो झगड़े हैं वो सुलझ जाएं भले इसके लिए हमारी जान क्यों न चली जाए, हम तैयार हैं."

लेकिन इतनी ताकत के बावजूद दोनों की हिम्मत कभी-कभी जवाब दे जाती है.

मीरा कहती हैं, "अगर मैं ये कहूं कि लोग जो कुछ भी कहते हैं हमें उससे फर्क नहीं पड़ता तो ये ग़लत होगा. हम भी इंसान हैं और समाज में रह रहे हैं."

वो आगे बताती हैं, "मैं वैसे ही न केवल शारीरिक बल्कि मानसिक तौर पर एक बहुत बड़े बदलाव से गुज़र रही हूँ. ऐसे में जब कोई हमारे रिश्ते के बारे में ग़लत बातें करता है तो मुझे बहुत तकलीफ होती है."

इमेज कॉपीरइट MEERA

मीरा को पूरी तरह स्वस्थ होने में थोड़ा और वक़्त लग सकता है. सेक्स चेंज के बाद उनका इलाज कर रहे डॉ. मिथिलेश मिश्रा कहते हैं, "आम तौर पर इस प्रक्रिया को पूरा होने में दो से तीन साल लग जाते हैं."

डॉ. मिश्रा और मीरा के कुछ दोस्तों ने इस मामले में उनकी काफ़ी मदद की है. डॉ. मिश्रा कहते हैं, "मीरा को इलाज कराते हुए अभी एक साल हो गया है और वे काफ़ी ठीक हैं. वो जल्दी ही पूरी तरह से स्वस्थ हो जाएँगी."

सिर्फ़ भारतीय-पाकिस्तानी या औरत-मर्द होने के सवाल मानो कम थे. मीरा और रिज़वान के सामने धर्म का मामला है.

क्या मीरा मुसलमान बनेंगी या रिज़वान अपना धर्म बदलेंगे?

इस सवाल के जवाब में मीरा कहती हैं, "रिज़वान के भारत आने पर हिंदू रीति से और पाकिस्तान जाकर वहाँ के रिवाज़ से शादी करूँगी, न ही मैं मुस्लिम बनूँगी, न ही वो हिंदू बनेंगे. हम ईद भी मनाएंगे और दिवाली भी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार