आंध्र: प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन को आग लगाई

कापू समुदाय का प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Akash Natraj

आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी ज़िले में कापू समुदाय ने अन्य पिछड़ा वर्ग में आरक्षण के लिए उग्र प्रदर्शन किया है.

इस दौरान एक ट्रेन की चार बोगियों को आग लगा दी गई और सड़क राजमार्ग भी जाम कर दिया गया. इन घटनाओं में किसी के मारे जाने की ख़बर नहीं है.

गृह मंत्री चिन्ना राजप्पा ने वरिष्ठ पत्रकार इमरान क़ुरैशी को बताया, "प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन की चार बोगियों को आग लगा दी. दो पुलिस थानों पर हमला किया गया है जिसमें क़रीब पंद्रह पुलिसकर्मी घायल हुए हैं."

पूर्वी गोदावरी ज़िले के ज़िलाधिकारी अरुण कुमार ने बीबीसी संवाददाता दिलनवाज़ पाशा को बताया, "समुदाय के लोगों ने अपनी मांगों के लिए सभा बुलाई थी. अचानक लोग उग्र हो गए और राजमार्ग और रेलमार्ग पर प्रदर्शन करने लगे."

अरुण कुमार के मुताबिक़, "प्रदर्शन से राजमार्ग और रेलमार्ग प्रभावित हुआ है."

इमेज कॉपीरइट Akash Natraj

दक्षिण मध्य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी उमाशंकर कुमार के अनुसार , "विशाखापटनम और विजयवाड़ा के बीच क़रीब चौदह ट्रेन सेवाएँ प्रभावित हुई हैं."

उन्होंने कहा, "जब तक राज्य सरकार हमें हरी झंडी नहीं देगी हम इस मार्ग पर रेलवे सेवाएं शुरू नहीं करेंगे."

उधर कापू समुदाय के कांग्रेसी नेता सी रामचंद्रय्या ने वरिष्ठ पत्रकार इमरान क़ुरैशी को बताया, "इस प्रदर्शन में सभी पार्टियों के लोग शामिल हैं सिवाए तेलगुदेशम पार्टी के."

उन्होंने कहा, "कापू समुदाय की पिछड़ा वर्ग में शामिल होने की मांग बहुत दिनों से है. मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडु ने पिछड़ा वर्ग आयोग गठित किया है जबकि इसकी ज़रूरत नहीं थी. जस्टिस पुट्टास्वामी आयोग पहले ही कापू समुदाय को पिछड़ा वर्ग में शामिल करने की सिफ़ारिश कर चुका है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)