बेंगलुरु में तंज़ानिया की छात्रा से बदसुलूकी

बंगलुरु इमेज कॉपीरइट AP
Image caption बेंगलुरु के एक कॉलेज में तंज़ानिया के क़रीब 150 छात्र पढ़ते हैं (फाइल फोटो)

बेंगलुरु में पुलिस ने तंजानिया की एक छात्रा के साथ बदसलूकी का मामला दर्ज किया है.

घटना रविवार की है जब कुछ लोग एक विदेशी छात्र की कार के नीचे आने से एक महिला की मौत को लेकर नाराज थे.

उन्होंने न सिर्फ कार चला रहे सूडानी छात्र की पिटाई की और उसकी कार में आग लगा दी, बल्कि वहां से गुजरने वाली तंज़ानिया की इस छात्र से बदसुलूकी की और उसके कपड़े फाड़े गए.

छात्रा को जान बचा कर भागने के लिए मजबूर होना पड़ा.

बेंगलुरु (उत्तर) के उपायुक्त टीआर सुरेश ने बताया, "उनका टॉप फाड़ा गया लेकिन उन पर कोई सेक्सुअल हमला नहीं हुआ. स्थानीय मीडिया में जब ख़बर छपी तो हमने उन्हें कहा कि वह अपनी शिकायत दर्ज कराएं. अब हम मेडिकल जांच सहित इस मामले में हर क़दम उठा रहे हैं."

पुलिस का कहना है कि रविवार रात को नशे में धुत सूडान के एक छात्र ने सड़क के किनारे सो रही एक महिला को कुचल दिया था. इस पर भीड़ ने छात्र को पीटा और उसकी कार में आग लगा दी.

कार हादसे की जगह से तंज़ानिया की 21 वर्षीय छात्रा दो साथियों के साथ गुज़र रही थी.

स्थानीय कॉलेज की तंज़ानियाई स्टूडेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष बर्नांदू काफ़ुमु ने बीबीसी को बताया, "दुर्घटना के 30 मिनट बाद ये चारों छात्र गुज़र रहे थे तो उन्होंने रुककर पूछा कि वहां क्या हुआ. तब उन पर भीड़ ने हमला कर दिया."

एसोसिएशन के ही एक अन्य सदस्य ने नाम न बताने की शर्त पर बताया, "यह लड़की उस छात्र को जानती भी नहीं थी जो इस दुर्घटना का ज़िम्मेदार था. हमले के बाद चारों अपनी कार की तरफ़ दौड़े, लेकिन सड़क पर कुछ रुकावट थी. इसलिए वो गाड़ी से उतरकर भागने लगे. लड़की भी जान बचाकर भागी. स्थानीय लोगों ने उसका पीछा किया और उसके कपड़े फाड़ दिए."

उत्तर बेंगलुरु के हेस्सरघट्टा स्थित एक कॉलेज में तंज़ानिया के क़रीब 150 छात्र पढ़ते हैं. शहर में विभिन्न देशों के सैकड़ों छात्र पढ़ते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार