सुधीर तैलंग के कुछ बेजोड़ कार्टून

सुधीर तैलंग इमेज कॉपीरइट sudhir tailang facebook

शनिवार को 55 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहने वाले कार्टूनिस्ट सुधीर तैलंग भारतीय पत्रकारिता का जाना माना नाम रहे हैं.

वे कई प्रमुख अखबारों से जुड़े रहे और अपने करियर में नौ प्रधानमंत्रियों के कार्यकाल पर कभी तीखे तो कभी हास्यप्रद कार्टून बना कर मनोरंजन भी करते रहे और भारतीय राजनीति पर दमदार टिप्पणी भी.

उनके कुछ कार्टून राजनीतिक परिदृश्य में हमेशा प्रासंगिक हैं और रहेंगे.

उनके चुनिंदा कार्टून-

इमेज कॉपीरइट sudhir tailang

इस कार्टून बात यूं है कि कक्षा में नकल चल रही है. पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह लिख रहे हैं-सामाजिक न्याय, रोज़गार, स्थिरता. फिर राजीव गांधी लिख रहे हैं- स्थिरता, रोटी रोज़ी, राम रहीम. और फिर भाजपा नेता आडवाणी भी नकल कर लिख रहे हैं- राम रोटी, इंसाफ, स्थिरता.

भारतीय राजनीति में देश में स्थिरता लाने का वादा आज भी उतना ही महत्वपूर्ण है जितना इन नेताओं के समय में था.

इमेज कॉपीरइट sudhir tailang

कार्टून में जयाललिता के बोझ तल दबे हुए अटल बिहारी बाजपेयी से आडवाणी जी कह रहे हैं- याद रखिएगा अटल जी!हम किसी दबाब के सामने घुटने नहीं टेकेंगे!

जयललिता का दबाब आज भी तमिलनाडु के नेता बर्दाश्त नहीं कर सकते!

इमेज कॉपीरइट sudhir tailang

घर तो बनाया आडवाणी जी ने और नाम की तख्ती लगा रहे हैं मोदी जी!

भारतीय जनता पार्टी की भीतरी राजनीति और मोदी के प्रधानमंत्री बनने पर इससे सटीक टिप्पणी नहीं हो सकती.

इमेज कॉपीरइट sudhir tailang

पार्टी दफ्तर के गार्ड फोन पर बता रहे हैं, "सोनिया जी पार्टी को संबोधित कर रही हैं, प्रधानमंत्री राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं और वित्तमंत्री मीडिया से मुखातिब हैं." तभी दूसरे गार्ड कह उठते हैं-"उम्मीद है कि कोई समस्या पर भी ध्यान दे रहा है!"

राजनेता अक्सर देश और दल को संबोधित करते करते असल समस्या को दरकिनार कर देते हैं!

इमेज कॉपीरइट sudhir tailang

टीवी पत्रकार आम जन से पूछ रही है, "गृहमंत्री, एक मुख्यमंत्री और एक उप मुख्यमंत्री को पद से हटा दिया गया है. अब आप क्या कुछ सुरक्षित महसूस कर रहे हैं?"

तब महिला जबाब देती है, "नहीं, अभी बहुत से और मंत्री हैं जिनसे हमें डर लगता है!"

कहना ना होगा कि आम जनता में मंत्रियों की छवि कुछ ऐसी ही रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार