कार्ड की ज़रूरत नहीं, फ़ोन से होगा पैसे का लेन-देन

मोबाइल फ़ोन से निकालें पैसे इमेज कॉपीरइट AFP

अब आपको बैंक से पैसे निकालने हैं या कहीं से पैसे लेने हैं तो डेबिट या क्रेडिट कार्ड की ज़रूरत नहीं होगी.

आपके पास सिर्फ़ एक स्मार्टफ़ोन होना चाहिए. देश भर के 29 बैंक यह सुविधा 8 अप्रैल से शुरू कर रहे हैं.

नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) सुरक्षा प्रकिया पूरी करने के बाद आपको एक वर्चुअल एड्रेस देगा. भुगतान करने के लिए इस वर्चुअल एड्रेस का होना ही काफ़ी होगा.

इमेज कॉपीरइट

एनपीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एपी होता ने बीबीसी हिंदी को बताया, "भारत दुनिया का पहला देश होगा जो इस प्रणाली का इस्तेमाल कर उसी समय पैसों के लेन देन की सुविधा देगा. इसलिए यूनाइटेड पेमेंट इंटरफेस या यूपीआई अनूठा है."

फ़िलहाल, बैंक ग्राहक भुगतान करने के लिए तत्काल भुगतान सेवा का इस्तेमाल करते हैं. इस नई प्रणाली से पैसे लेना भी मुमकिन होगा.

होता ने कहा, ''दरअसल यूपीआई आईएमपीएस का ही दूसरा संस्करण है. पहले वाले में आप पैसा भेज तो सकते थे, लेकिन ले नहीं सकते थे. इसमें आप पैसे ले भी सकते हैं.''

इमेज कॉपीरइट Getty

एपी होता ने बताया कि मौजूदा प्रणाली में आपको आईएफएससी कोड और अपना अकाउंट नंबर देना होता है, लेकिन यूपीआई में आपको एक ऑनलाइन एड्रेस मिलेगा और आप इसके ज़रिए ही पैसे ले सकेंगे.

ग्राहक अपने आधार कार्ड नंबर का इस्तेमाल वर्चुअल एड्रेस के रूप में कर सकता है. इसके अलावा, वह 'पिन' यानी पर्सनल आईडेंटिफ़िकेशन नंबर के बजाय बायोमेट्रिक पहचान का इस्तेमाल भी कर सकता है.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

फ़िलहाल भारत के 29 में से 14 बैंकों ने इस प्रणाली के तहत काम करना शुरू कर दिया है.

यूआईडीएआई के पूर्व अध्यक्ष नंदन नीलेकनी एनपीसीआई के सलाहकार रह चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार