शीना हत्याकांड: पीटर मुखर्जी पर हत्या का मुकदमा

इमेज कॉपीरइट PTI

सीबीआई ने मुंबई के चर्चित शीना बोरा हत्याकांड में जानी-मानी मीडिया हस्ती पीटर मुखर्जी पर हत्या का मामला दर्ज किया है.

शीना बोरा हत्याकांड में पीटर मुखर्जी की पत्नी इंद्राणी मुखर्जी पहले से ही मुख्य अभियुक्त हैं और मंगलवार को पीटर को भी इस मामले में अभियुक्त बनाया गया.

इंद्राणी मुखर्जी, उनके ड्राइवर श्यामवर राय और पूर्व पति संजीव खन्ना पर इंद्राणी की बेटी शीना बोरा की हत्या करने का आरोप है.

24 वर्षीय शीना बोरा 2012 में गायब हो गई थीं और फिर रायगढ़ ज़िले में एक लाश मिली थी. अब फ़ोरेंसिक जांच के बाद पुष्टि हो गई है कि वो लाश शीना बोरा की ही थी.

इस मामले में नवंबर, 2015 में पीटर मुखर्जी को गिरफ़्तार किया गया था. सीबीआई अधिकारी ने तब दावा किया था कि शीना की हत्या में पीटर की अहम भूमिका रही है.

जांच अधिकारियों के मुताबिक अपनी गिरफ़्तारी के वक्त पीटर इंद्राणी से दूरी बनाने की कोशिश कर रहे थे.

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK PAGE OF INDRANI MUKHERJEE

इसके मुताबिक पीटर मुखर्जी ने चार बहुत बड़ी रकम की जीवन बीमा पॉलिसीज़ ली हुई हैं और उनमें अपने नॉमिनी का नाम इंद्राणी और वैदेही की जगह अपने बेटे राहुल और राबिन का नाम देने की प्रक्रिया शुरू कर चुके थे.

इतना ही नहीं उन्होंने जीवन बीमा कंपनियों को पैसे जमा कराने के दिए गए बैंक एकाउंट के डिटेल भी बदले थे. सीबीआई के मुताबिक पूछताछ के दौरान पीटर ने इंद्राणी के साथ ब्रिटेन और भारत में निवेश की जानकारी तो दी लेकिन पैसे के स्रोत के बारे में कुछ नहीं बताया.

पीटर मुखर्जी पर ये भी आरोप लगाया गया कि उन्होंने शीना की हत्या के बाद उनके पर्स से मोबाइल फ़ोन और दूसरे अन्य सामानों को नष्ट किया है. इसके अलावा उन पर अपने बेटे राहुल को शीना के जीवित होने और अमरीका में रहने के बारे में ग़लत जानकारी देने का आरोप भी है.

इस सनसनीखेज मामले की जांच मुंबई के तत्कालीन पुलिस आयुक्त राकेश मारिया कर रहे थे. बाद में महाराष्ट्र सरकार ने जांच की ज़िम्मेदारी सीबीआई को सौंप दी थी.

इंद्राणी, संजीव खन्ना और श्यामवर राय अभी न्यायिक हिरासत में हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार