सीआरपीएफ़ के दो जवान, एक नागरिक की मौत

इमेज कॉपीरइट AP

भारत प्रशासित जम्मू कश्मीर के पांपोर इलाक़े में शनिवार शाम क़रीब पांच बजे चरमपंथियों ने सीआरपीएफ़ के क़ाफ़िले पर हमला किया.

इस हमले में दो सीआरपीएफ़ जवान मारे गए हैं, जबकि अन्य 13 जवान ज़ख़्मी हुए हैं. बाद में एक नागरिक की भी मौत हो गई.

मारे गए नागरिक का नाम अब्दुल ग़नी मीर बताया जा रहा है.

ख़बर मिलने तक चरमपंथियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ जारी है.

हमले के तुरंत बाद चरमपंथी क़रीब की एक जेकेएफ़टीआई (जम्मू एंड कश्मीर एंटरप्रिन्योरशिप डेवेलपमेंट इंस्टीट्यूट) की एक इमारत में छिप गए .

इस दौरान इंस्टीट्यूट की इमारत में क़रीब 60 फंसे कर्मचारी फंसे थे जिन्हें पुलिस ने सुरक्षित निकाल लिया है. उनमें से एक कर्मचारी को मामूली चोटें आई हैं जिन्हें अस्पताल ले जाया गया है.

इस घटना की पुष्टि करते हुए आईजी पुलिस कश्मीर ज़ोन सैय्यद जावेद गीलानी मुज्तबा ने बीबीसी को बताया कि अभी तक जितने भी कर्मचारी फंसे हुए थे उन्हें बाहर निकाला गया है और दो सीआरपीएफ़ के जवान इस हमले में मारे गए हैं.

जिस इलाक़े में यह घटना हुई है वह श्रीनगर जम्मू हाईवे पर है. राजधानी श्रीनगर से पांपोर की दूरी 13 किलोमीटर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार