कश्मीर मुठभेड़: एक और सुरक्षाकर्मी की मौत

इमेज कॉपीरइट EPA

भारत प्रशासित जम्मू कश्मीर के पांपोर इलाक़े में शनिवार से चल रही मुठभेड़ में रविवार को एक और सुरक्षाकर्मी की मौत हो गई.

अब तक इस मुठभेड़ में पांच सुरक्षाकर्मियों, एक चरमपंथी और एक नागरिक की मौत हुई है.

सेना के प्रवक्ता एनएन जोशी के मुताबिक़ मुठभेड़ में रविवार को ज़ख़्मी एक कमांडर की अस्पताल में मौत हो गई.

ये मुठभेड़ शनिवार को उस समय शुरू हुई जब सुरक्षा बलों के एक काफिले पर हमला करने के बाद चरमपंथी एक सरकारी इमारत में जा छिपे.

इमेज कॉपीरइट AP

हालांकि इमारत से लगभग 60 आम लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया, लेकिन चरमपंथियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ जारी है.

ये एक पांच मंज़िला सरकारी इमारत है, जहां ऑपरेशन चल रहा है. ऑपरेशन की जगह से 10 किलोमीटर दूर भारतीय थल सेना की चिन्नार 15 कोर का हेडक्वार्टर है.

इससे पहले सीआरपीएफ़ प्रवक्ता उमेश कुमार ने चरमपंथी के मारे जाने की पुष्टि की थी. रविवार सुबह से दोबारा फ़ायरिंग शुरू हो गई थी.

इमेज कॉपीरइट AP

जम्मू कश्मीर पुलिस के मुताबिक़ इमारत में तीन से पांच चरमपंथी हो सकते हैं, जो हथियारों से लैस हैं.

सुरक्षाकर्मियों और चरमपंथियों के बीच हुई इस मुठभेड़ में एक आम नागरिक की भी शनिवार रात अस्पताल में मौत हो गई थी.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption सुरक्षाबल के जवानों ने इमारत को घेर रखा है.

इमारत में रविवार सुबह ऊपरी हिस्से में आग लग गई थी. जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीआईजी गुलाम हसन बट ने बीबीसी को बताया, "बिल्डिंग में जो आग लगी है, वह क्रॉस फ़ायरिंग का नतीजा हो सकता है."

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पांपोर में चरमपंथियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है.

रविवार को पांपोर में कई जगहों पर प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया. प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसूगैस के गोले दागे जिसमें दो नागरिक घायल हो गए.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption इमारत में फंसे छात्रों, कर्मचारियों और नागरिकों को सुरक्षित निकाल लिया गया है.

पुलिस ने एक हफ़्ते पहले लोगों से अपील की थी कि वो मुठभेड़ वाली जगह से कम से कम दो किलोमीटर दूर रहें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार