केंद्र ने जाट आरक्षण के लिए कमेटी बनाई

इमेज कॉपीरइट pt

केंद्र सरकार ने जाटों को आरक्षण देने के मुद्दे पर एक पांच सदस्यीय कमेटी का गठन किया है, जिसकी अध्यक्षता केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू करेंगे.

केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने बीबीसी संवाददाता वात्सल्य राय को बताया कि वो भी इस कमेटी में शामिल हैं.

उन्होंने कहा कि इस कमेटी के गठन के साथ ही जाट आंदोलन औपचारिक तौर पर समाप्त हो गया है. हालांकि आंदोलन के दौरान रविवार को छह और लोगों के मारे जाने की ख़बर है.

संजीव बालियान ने बताया कि कमेटी के अन्य सदस्यों में केंद्रीय मंत्री डॉ महेश शर्मा, भाजपा उपाध्यक्ष सतपाल मलिक और राज्यसभा सदस्य अविनाश राय खन्ना भी शामिल हैं.

ये कमेटी जाटों को संवैधानिक दायरे में आरक्षण देने के मामले में निर्णय लेगी.

जाट समुदाय नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में अपने लिए ओबीसी दर्जा चाहता है, हालांकि पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने नौ राज्यों में जाटों को आरक्षण देने की सिफ़ारिश ख़ारिज कर दी थी.

संजीव बालियान का कहना था, ''जाटों को आरक्षण देने के मामले में सैद्धांतिक सहमति बन गई है. संवैधानिक दायरे में कैसे दिया जा सकता है. इस पर निर्णय लेना है. इस पर भाजपा पहले से ही सहमत थी और सुप्रीम कोर्ट में एफ़िडेविट भी दिया था.''

इमेज कॉपीरइट Anoop Thakur

हालांकि उनका कहना है, ''शायद कम्यूनिकेशन गैप की वजह से आंदोलन हुआ और हम अपनी बात लोगों तक नहीं पहुँचा पाए. जिसके बाद आंदोलन धीरे-धीरे नेतृत्वविहीन हो गया. बहुत सी जानें गईं और नुक़सान हुआ. अब धीरे-धीरे लोग वापस घर जाने लगे हैं. क्यों और कहां हुआ इसकी निश्चित रूप से जांच होगी.''

उनके मुताबिक़ जहां तक उन्हें सूचना है कि औपचारिक रूप से आंदोलन ख़त्म हो गया है और लोग वापस जा रहे हैं, रास्ते खुलने लगे हैं.

वहीं हरियाणा के एडिशन चीफ़ सेक्रेटरी पीके दास ने चंडीगढ़ में स्थानीय पत्रकार संजय शर्मा से बातचीत में छह लोगों की मौत की पुष्टि की थी. अब तक इस आंदोलन में कम से कम 15 लोग मारे गए हैं.

उन्होंने बताया कि झज्जर में चार लोग मारे गए हैं तो सोनीपत में अकबरपुर बरोटा मूनक कनाल को चालू करने के दौरान एक व्यक्ति की मौत हुई.

नहर पर हज़ारों लोग इकट्ठे हो गए थे और हालात बिगड़ता देख सुरक्षाबलों ने कार्रवाई को स्थगित कर दिया. इसके चलते वहां से दिल्ली को होने वाली पानी की सप्लाई भी चालू नहीं की जा सकी है.

इनके अलावा हांसी में जातीय हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हुई है.

इससे पहले, रविवार को हरियाणा के मुद्दे पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के घर पर एक बैठक हुई, जहां कई जाट नेता मौजूद थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें.आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)