'गैंगरेप के सबूत हैं तो इन पुलिस अफ़सरों को दें'

हरियाणा आंदोलन इमेज कॉपीरइट EPA

हरियाणा में जाट आंदोलन के दौरान नेशनल हाइवे संख्या-1 पर दिल्ली से सटे मुरथल के नज़दीक महिलाओं से कथित बलात्कार की रिपोर्टों की सत्यता की जाँच के लिए हरियाणा पुलिस ने तीन सदस्यीय समिति गठित की है.

इसमें डीआईजी रैंक की एक अधिकारी समेत तीन महिला अधिकारी हैं. पीड़ित महिलाओं या घटना के बारे में जानकारी रखने वाले लोगों से इन अधिकारियों से संपर्क करने के लिए कहा गया है.

राजश्री सिंह (डीआईजी) 9729995000, भारती डबास (डीएसपी) 8053882302, सुरेंदर कौर (डीएसपी) 9729990760.

मीडिया में आई कुछ ख़बरों के अनुसार सोमवार की सुबह को मुरथल के निकट महिला यात्रियों को रोका गया और उन्हें खींचकर पास के खेतों में लेकर उनके साथ गैंगरेप किया गया.

हालाँकि हरियाणा के पुलिस महानिदेशक यशपाल सिंघल ने कहा कि अभी तक पुलिस को बलात्कार की कोई भी शिकायत नहीं मिली है.

डीजीपी ने कहा कि घटनास्थल से महिलाओं के जो कपड़े मिले हैं उन्हें जाँच के लिए भेज दिया गया है.

हरियाणा और पंजाब हाईकोर्ट ने कथित गैंगरेप की ख़बरों पर स्वत: संज्ञान लेते हुए इनकी जांच के आदेश दिए थे.

सिंघल के मुताबिक़ जाट आंदोलन के दौरान अब तक कुल 30 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार