भारत में पांच फ़ीसद देशद्रोहीः स्वामी

इमेज कॉपीरइट Navneet Jaiswal

भारतीय जनता पार्टी नेता सुब्रमण्यम स्वामी को उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ा है.

एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रहे स्वामी की कार पर प्रदर्शनकारियों ने अंडे और टमाटर फेंके. यही नहीं, स्वामी को काले झंडे भी दिखाए गए और उन पर काली स्याही भी फेंकी गई.

इससे पहले उन्होंने शुक्रवार रात सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में कहा था कि सिर्फ़ जेएनयू ही नहीं पूरे देश में अलग-अलग स्थानों पर 'देशद्रोही' हैं जिनकी संख्या देश में पांच फ़ीसद है.

स्वामी यहीं नहीं रुके. आगे उन्होंने कहा कि देशद्रोहियों की यह संख्या सबसे ज़्यादा जेएनयू में और उसके बाद उत्तर प्रदेश के आज़मगढ़ और मऊ ज़िलों में है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

उन्होंने कहा कि इन सबकी पहचान कर जल्द ही जेल भेजा जाएगा.

स्वामी शुक्रवार को कानपुर के वीएसएसडी कॉलेज में ग्लोबल टेररिज़्म पर एक संगोष्ठी में हिस्सा लेने आए थे. शनिवार सुबह भी वह कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रहे थे. तब कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं ने उनका विरोध किया और नारे लगाए.

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को वहां से भगाने की कोशिश की, जिसकी वजह से पुलिस की उनके साथ झड़प भी हुई.

बाद में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता पुलिस उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए धरने पर बैठ गए.

कांग्रेस कार्यकर्ताओं का कहना है कि वे सिर्फ़ प्रदर्शन कर रहे थे, अंडे और टमाटर फेंकने वाले कोई और थे जबकि भाजपा ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर इसका आरोप मढ़ा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार