पूर्व सैनिक नहीं चाहते भारत-पाक मैच हो: वीरभद्र

वीरभद्र सिंह इमेज कॉपीरइट
Image caption हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने इस बारे में गृह मंत्रालय को पत्र लिखा है

हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में टी-20 विश्व कप श्रंखला में भारत पाकिस्तान मैच को लेकर राज्य की कांग्रेस सरकार ने कहा है कि वो इस मैच के लिए आवश्यक सुरक्षा मुहैया नहीं करवा सकती.

राज्य के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, "अगर हमारे पूर्व सैनिक धर्मशाला में भारत-पाक क्रिकेट मैच नहीं चाहते, तो हिमाचल क्रिकेट असोसिएशन को उनकी भावनाओं का आदर करना चाहिए. वो मैचों का विरोध नहीं कर रहे. वे हिमाचल प्रदेश में पाकिस्तानी टीम के खेलने का विरोध कर रहे हैं."

इमेज कॉपीरइट Both Photos by AFP
Image caption भारत पाक क्रिकेट फ़ैन्स

भारत और पाकिस्तान के बीच मैच 19 मार्च को होना है.

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने पठानकोट में हुए हमले का हवाला देते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में हुए हमलों में हिमाचल प्रदेश के कई सेनिकों की जान गई है.

उन्होंने कहा, "ऐसी स्थिति में पाकिस्तान के साथ क्रिकेट मैच धर्मशाला में नहीं होना चाहिए, किसी और टीम के साथ हो सकता है. अगर ऐसा होता है तो ये हिमाचल प्रदेश के लोगों की इच्छा के खिलाफ होगा."

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption अनुराग ठाकुर (बांए) ने इस मुद्दे के राजनीतिक से प्रेरित बताया

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस संबंध में उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री को भी पत्र लिखा है.

उधर बीसीसीआई के सचिव और बीजेपी के सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि विश्व कप के वैन्यू कई महीने पहले से तय हो जाते हैं.

उन्होंने कहा, "अंतिम समय में ये कहना कि हम मैच के लिए आवश्यक सुरक्षा उपलब्ध नहीं करवा सकते, ये राज्य सरकार की नाकामी ही दिखलाता है."

उन्होंने कहा, "ये कह कर कि हम सुरक्षा मुहैया नहीं करवा सकते, हम सिर्फ पाकिस्तान के इन दावों की पुष्टि कर रहे हैं कि भारत में उनकी क्रिकेट टीम को खतरा है."

अनुराग ठाकुर ने कहा कि ये देश और प्रदेश की प्रतिष्ठा का सवाल है. उन्होंने आरोप लगाया कि हिमाचल प्रदेश की सरकार राजनीति कर रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार