अपनी कहानी देश को बता दूँगा: कन्हैया

Image caption कन्हैया कुमार की गिरफ़्तारी के बाद छात्रों के बड़े समूह ने विरोध प्रदर्शन किया.

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने ज़मानत पर जेल से बाहर आने के बाद कहा कि वो अपनी कहानी पूरे समाज और देश को बतायेंगे.

जेएनयू में 9 फ़रवरी को हुए एक कार्यक्रम में कथित भारत विरोधी नारे लगने के बाद कन्हैया पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है.

भारतीय टीवी चैनेल एनडीटीवी इंडिया के रवीश कुमार से फ़ोन पर हुई बातचीत में जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष ने कहा, "ये लड़ाई है सही को सही और ग़लत को ग़लत बताने की. इसके लिए ज़रूरी है कि ये बात पूरे देश और समाज को बताई जाए."

कन्हैया कुमार ने एनडीटीवी के रवीश कुमार से कहा कि वो उनके माध्यम से पूरे देश को धन्यवाद देना चाहते हैं.

उनका कहना था कि वो 'कुछ ही देर पहले जेल से वापस आए हैं और फ्रेश होकर देर रात विश्ववदियालय में होने वाले जुलूस में शामिल होंगे.'

रवीश कुमार ने जब उनसे सवाल किया कि क्या वो अपने घर बिहार के बेगुसराय भी जाएंगे, तो उन्होंने कहा कि सच को जानने और बताने के लिए जो ज़रूरी होगा वो करेंगें.

कन्हैया कुमार की रिहाई तिहाड़ जेल से गुरूवार शाम हुई. उन्हें दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को अंतरिम ज़मानत दे दी थी.

इमेज कॉपीरइट Manish Shandilya
Image caption कन्हैया को ज़मानत मिलने के बाद उनके परिवार में जश्न.

पुलिस ने उन्हें 12 फ़रवरी को कथित तौर पर भारत विरोधी नारे लगाने के आरोप में गिरफ़्तार किया था.

कन्हैया को छह महीने बाद फिर से ज़मानत के लिए अपील करनी होगी.

ज़मानत के लिए कन्हैया को बांड भी भरना पड़ा. जेएनयू से जुड़े मामले में ही दो अन्य छात्रों को गिरफ़्तार किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार