'बहन गिड़गिड़ाती रही स्मृति जी नहीं रुकीं'

स्मृति इरानी इमेज कॉपीरइट AP

स्मृति इरानी के कार-काफ़िले से टकराकर मारे गए व्यक्ति के बेटे ने एफ़आईआर में आरोप लगाया है कि इरानी दुर्घटना के बाद, मदद करने की जगह आगे निकल गईं.

एफ़आईआर के मुताबिक़ स्मृति के काफ़िले की एक कार ने मोटरसाइकिल को पीछे से टक्कर मारी थी.

हादसे में जान गंवाने वाले डॉक्टर रमेश नागर के बेटे अभिषेक नागर ने ये एफ़आईआर दर्ज कराई है. ये परिवार आगरा में रहता है और दुर्घटना आगरा से 103 किलोमीटर दूर हुई.

इमेज कॉपीरइट Abhishek Nagar

गाड़ी को कौन चला रहा था ये एफ़आईआर में स्पष्ट नहीं है.

बीबीसी हिंदी से बात करते हुए अभिषेक नागर ने कहा, "स्मृति जी कार से उतरीं, मेरी बहन उनके आगे गिड़गिड़ाती रही लेकिन वो नहीं रूकीं बल्कि नज़रअंदाज़ करके आगे बढ़ गईं."

अभिषेक ने कहा, "इतनी बड़ी मंत्री होने के बावजूद उन्होंने कुछ नहीं किया. एक अज्ञात व्यक्ति जो कार से गुज़र रहे थे, उन्होंने मुझे हादसे की जानकारी फ़ोन करके दी, उन्होंने ही पुलिस और एंबुलेंस को बुलाया."

इमेज कॉपीरइट Twitter

इस पूरे प्रकरण पर स्मृति इरानी ने कई ट्वीट किए. सबसे पहले ट्वीट में स्मृति ने कहा, "जो लोग मेरे हादसे के बारे में जानना चाहते हैं. मैं ठीक हूँ. आपकी दुआओं के लिए शुक्रिया."

अगले ट्वीट में स्मृति ने कहा, "एक के बाद एक कई वाहन टकरा गए थे. मेरे पीछे चल रही पुलिस कार और मेरी कार भी दुर्भाग्यवश टकरा गई. मैंने घायलों की मदद करने की कोशिश की और ये सुनिश्चित किया कि वे अस्पताल पहुँचे. मैं उनके स्वस्थ होने की कामना करती हूँ."

स्मृति ने अपने ट्वीट में घायलों की मदद करने वाले मनोज चोपड़ा और उनकी पत्नी का ज़िक्र करते हुए उनका शुक्रिया भी अदा किया.

इमेज कॉपीरइट Abhishek Nagar

लेकिन अभिषेक का आरोप है कि उनके पिता को मंत्री के काफ़िले में ही शामिल कार ने टक्कर मारी थी और मंत्री को वहां रुकना चाहिए था.

अभिषेक कहते हैं, "मेरी बहन ने मुझे बताया है कि पहली कार से टकराने के बाद पापा ज़िंदा थे और हमें देखने के लिए उठे भी थे, लेकिन पीछे से आ रही दूसरी कार ने उन्हें टक्कर मार दी और उनकी मौत हो गई."

अभिषेक कहते हैं, "स्मृति जी ने ट्वीट किया और बताया कि मैं सुरक्षित हूँ. वो सुरक्षित हैं, तो हम भी तो इंसान हैं, हमारे पास तो कुछ भी नहीं हैं. पापा ही कमाने वाले थे अब वो नहीं हैं. अब हम क्या करेंगे?"

डॉक्टर रमेश नागर अपनी बेटी और एक भतीजे के साथ शादी समारोह में शामिल होने के लिए मोटरसाइकिल से जा रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार