एनजीटी ने श्री श्री को दी एक और दिन की मोहलत

यमुना, एनजीटी इमेज कॉपीरइट Aarju Siddiqui

श्री श्री रविशंकर अब दिल्ली में यमुना किनारे कार्यक्रम आयोजित करने के लिए लगा जुर्माना शुक्रवार तक जमा करा सकते हैं.

समाचार एजेंसियों के अनुसार नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने पांच करोड़ रूपए का जुर्माना भरने की डेडलाइन को शुक्रवार तक के लिए बढ़ा दिया है.

पहले एनजीटी ने आदेश दिया था कि ये पैसे गुरुवार शाम तक जमा कराए जाएं नहीं तो यमुना तट पर ‘वर्ल्ड कल्चर फ़ेस्टिवल’ के आयोजन की इजाज़त रद्द हो सकती है.

दिल्ली में यमुना नदी के तट पर 11 से 13 मार्च तक ‘वर्ल्ड कल्चर फ़ेस्टिवल’ आयोजित किया जा रहा है जिसमें कई देशों से हज़ारों लोगों के शामिल होने की संभावना है.

इमेज कॉपीरइट Aarju Siddiqui

एनजीटी ने गुरुवार को कहा कि आर्ट ऑफ लिविंग के पास अग्निशमन और पुलिस की अनुमति लेने के लिए भी अगले दिन तक का समय है.

वहीं केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के वकील ने बताया है कि उन्होंने यमुना के किनारे कार्यक्रम वाली जगह का दौरा किया है और बोर्ड वहां कचरे के निपटारे के लिए समुचित दिशा-निर्देश जारी करेगी.

पढ़ें- जुर्माना भरने के तैयार नहीं श्री श्री रविशंकर
इमेज कॉपीरइट Aarju Siddiqui

ग़ौरतलब है कि श्री श्री रविशंकर ने कई मीडिया चैनलों को कहा था कि वो जुर्माना नहीं भरेंगे और एनजीटी के इस फैसले के खिलाफ़ अपील करेंगे.

पढ़े- श्री श्री के कार्यक्रम को जुर्माने के साथ हरी झंडी
इमेज कॉपीरइट Aarju Siddiqui

यमुना के पर्यावरण को नुकसान का हवाला देकर इस आयोजन को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) में चुनौती दी गई थी जिस पर एनजीटी ने ऑर्ट ऑफ लिविंग संस्था, दिल्ली प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड और डीडीए पर जुर्माना लगाते हुए कार्यक्रम को हरी झंडी दी थी.

एनजीटी का कहना था कि कार्यक्रम जारी रह सकता है, लेकिन कार्यक्रम शुरू करने से पहले फाउंडेशन को जुर्माने की राशि जमा करानी होगी. फ़ाउंडेशन को इस इलाके को बायोडाइवर्सिटी पार्क के रूप में विकसित करने के लिए भी कहा गया है.

एनडीटीवी को दिए एक साक्षात्कार में श्री श्री रविशंकर ने कहा था कि वे जेल जाने के लिए तैयार हैं 'लेकिन जुर्माना नहीं भरेंगे.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार