नरेंद्र मोदी के भाषण की 7 बातें

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट NarendraModiPMOIndia

दिल्ली में यमुना किनारे श्री श्री रविशंकर के आर्ट ऑफ़ लिविंग के ‘वर्ल्ड कल्चर फ़ेस्टिवल’ को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया है.

प्रधानमंत्री मोदी के भाषण की 7 प्रमुख बातें-

1. दुनिया सिर्फ़ आर्थिक हितों से जुड़ी हुई नहीं है, मानवीय मूल्यों से जुड़ सकती है, जोड़ी जा सकता है, जोड़ना चाहिए.

2. भारत के पास वह सांस्कृतिक विरासत है, जिसकी तलाश दुनिया को है. हम दुनिया को कुछ न कुछ दे सकते हैं. लेकिन यह तभी हो सकता है कि जब हमें अपनी विरासत पर गर्व हो, अभिमान हो. हम खुद को कोसते रहेंगे तो दुनिया हमारी ओर क्यों देखेगी.

3. अंतरराष्ट्रीय जगत में जहां राजशक्ति और राज सत्ता की पहुंच नहीं होती, वहां सॉफ़्ट पावर का बहुत महत्व होता है.

4. आज हम एक अलग तरह के कुंभ को देख रहे हैं. यह कला का कुंभ है.

5. तन को डोलाने वाला संगीत बाज़ार में भरा पड़ा है, मन को डोलाने वाला संगीत भारत में ही है.

6. जब इरादों को लेकर चलते हैं, तब आर्ट ऑफ़ लिविंग चाहिए. जब हम संकटों से जूझते हैं, जब अपने लिए दूसरों के लिए जीते हैं, जब स्व से समष्टि की यात्रा करते हैं, जब 'मैं' से उठकर 'हम' की ओर चलते हैं, अहम् ब्रह्मास्मि से शुरू करके वसुवैध कुटुम्बकम की यात्रा करते हैं, तब आर्ट ऑफ़ लिविंग चाहिए.

7. सभी कलाकारों, सभी साधकों का भारत की विशिष्ट छवि दुनिया के सामने पहुंचाने के लिए धन्यवाद करता हूं.

इमेज कॉपीरइट Aarju Siddiqui

राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) ने इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए आर्ट ऑफ़ लिविंग पर पांच करोड़ रुपए का अर्थदंड लगाया है और इसे पर्यावरण की क्षति के लिए मुआवज़ा बताया है.

इमेज कॉपीरइट Aarju Siddiqui

इस राशि के भुगतान के लिए एनजीटी ने आर्ट ऑफ लिविंग को 3 हफ्ते का समय दिया है.

ये आयोजन 11 मार्च से 13 मार्च तक जारी रहेगा.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)