'अपने मुँह मियां मोदी होना...'

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट BBC Hindi

ट्विटर पर रविवार को हैशटैग 'नए हिंदी मुहावरे' ट्रैंड कर रहा है, जिसमें लोग प्रचलित हिंदी मुहावरों को नया रूप दे रहे हैं.

इस ट्रैंड की शुरुआत आम आदमी पार्टी नेता कुमार विश्वास ने एक के बाद एक कई ट्वीट करके की.

इमेज कॉपीरइट Other

एक ट्वीट में उन्होंने लिखा, "नौ-दो माल्या हो जाना नए #हिंदी_मुहावरे"

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, "हाथ-कंगन को आरसी क्या, येल वाली को फ़ारसी क्या नए #हिंदी_मुहावरे"

इस ट्रैंड के निशाने पर मौजूदा केंद्र सरकार और उसके नेता हैं. ज़्यादातर लोग व्यंग्यात्मक टिप्पणियां कर रहे हैं.

पढ़िए इस ट्रैंड में आए कुछ चुनिंदा ट्वीट...

इयान वुलफ़ोर्ड (@iawoolford) लिखते हैं, 'आ ट्रोल मुझे मार'

आम आदमी पार्टी नेता दिलीप पांडे (@dilipkpandey) ने लिखा, "भक्त" के आगे बीन बजाओ, "भक्त" बैठ पगुराय...

मेहुल चारोड़िया (@ChoradiyaMehul) ने लिखा, 'अपने मुंह मिया मोदी होना...'

प्रेरणा @prena_ लिखती हैं, "छाती पर मूंग दलना=स्मृति ईरानी का शिक्षा मंत्री होना"

कोमल (@Komal_Indian) लिखती हैं, "जब मोदी-केजरीवाल भये कोतवाल, तो फिर श्री श्री को डर काहे का.."

सुधांशु पांडे (@SUD_0107) ट्वीट करते हैं, "बाप मरा अंधियारे, बेटे का नाम पावरहाउस!, डाक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी धारा 370 के लिए मर गए, मोदी ने जम्मू-कश्मीर में सरकार बनाने के लिए इसे ही किनारे कर दिया."

अभय तिवारी (@AbhayIndia) ने ट्वीट किया, "कालाधन वापस लाना एक सियासी जुमला था, विकास एक मुहावरा था, महंगाई कम करेंगे ये एक लोककथा थी, वोट मांगना एक राजनीतिक मज़ाक़ था."

श्वेता सिंह (@singhshweta04) लिखती हैं, "ज़िम्मेदारी से डर लगता है, थप्पड़ से काम चलाते हैं, जब तक मूर्ख बना सकते जनता को ये बनाते हैं."

प्रेरणा (@prena_) ने एक और ट्वीट किया, "आसमान से बातें करना-मोदी हो जाना."

@byomkesbakshi ने ट्वीट किया, "चार दिन की चांदनी फिर अंधेरा उत्तरप्रदेश."

अभय तिवारी (@AbhayIndia) लिखते हैं, "ना खाऊँगा ना खाने दूँगा, जो खा लिया तो जाने दूँगा."

समर अनार्य (@Samar_Anarya) ने ट्वीट किया, "राजनाथ सिंह के सामने श्री श्री ने पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया. जबरा मारे रोवे न दे!"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)