'नियम तो मां-बाप, मज़हब के सम्मान का भी नहीं'

असदउद्दीन ओवैसी, एआइएमआइएम प्रमुख इमेज कॉपीरइट PTI

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तिहादुल मुसलिमीन के नेता असदउद्दीन ओवैसी सोशल मीडिया में लोगों के निशाने पर हैं.

उन्होंने बीते दिनों कथित तौर पर संघ प्रमुख मोहन भागवत की बात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि उनकी गर्दन पर चाक़ू रख दिया जाए तो भी वे भारत माता की जय नहीं बोलेंगे.

उन्होंने यह भी कहा कि ऐसा करने के लिए देश का संविधान उन्हें इजाज़त देता है.

सोशल मीडिया पर यह बहस का मुद्दा बन गया. इसके पक्ष और विपक्ष में बड़ी तादाद में लोग प्रतिक्रिया दे रहे हैं. कुछ लोगों ने कड़ी टिप्पणी की है तो कई लोगों ने ओवैसी का मज़ाक़ भी उड़ाया है. अनूप कुमार (@anoop7283) ने ट्वीट किया, “ओवैसी साहब, ऐसा कोई नियम नहीं है कि आप भारत माता की जय बोलें. पर ऐसा भी कोई नियम नहीं है कि आप अपने माता-पिता या मज़हब का सम्मान करें.”

प्रयास जैन (@Prayasjain1) कहते हैं, “आप क्यों कहेंगे भारत माता की जय?. आप तो पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे लगाते रहते हैं.”

नीतीश भारद्वाज (@nitish9bhardwaj) ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पर निशाना साधा. उन्होंने ट्वीट किया, “तो मोहन भागवत का कहना है कि वे युवाओं को भारत माता की जय कहना सिखाएंगे? उनके लिए मैं तीन शब्द कहूंगा-आप कौन हैं?”

इमेज कॉपीरइट KRITISH BHATT

पिंटू कुमार (@Pintu703) ने ट्वीट किया, “क्या बकवास है! भारत माता की जय कहने में और किसी से ऐसा जबरन कहलवाने में अंतर है. और आप ओवैसी की निंदा कर रहे हैं?”

अंशु (@iAnshuS) ने चुटकी लेते हुए कहा, “जब ओवैसी ने कहा कि वे भारत माता की जय नहीं बोलेंगे, उस वाक्य में ही वे दो बार बोल गए.”

देवब्रत मोदी (@DEVM84 ) ने लिखा, “असहमति की आवाज़ को नहीं कुचला जाना चाहिए, पर देशद्रोहियों को कुचल देना चाहिए.”

मानव (@manavjivan)ने ट्वीट किया, “भारत माता की जय बोलने से इनकार करना ग़ैरक़ानूनी नहीं है. इस पर इतना बड़ा तूफ़ान बेवजह खड़ा किया जा रहा है.”

राहुल राज (@bhak_sala) ने लिखा, “भारत माता की जय नहीं बोलने के लिए ओवैसी पर हमला नहीं होना चाहिए. हमें दूसरों की धार्मिक भावनाओं का ख़्याल रखना चाहिए.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार