छत्तीसगढ़ में विस्फोट, एक बच्ची की मौत

सुकमा में धमाका इमेज कॉपीरइट Alok Putul

छत्तीसगढ़ के सुकमा ज़िले में एक विस्फोट में आठ साल की बच्ची की मौत हो गई है.

पुलिस का कहना है कि बच्ची संदिग्ध माओवादियों द्वारा लगाए गए इम्प्रोवाइज़्ड एक्प्लोसिव डिवाइस की चपेट में आ गई.

विस्फोट इतना ज़बरदस्त था कि बच्ची का शरीर बुरी तरह क्षत-विक्षत हो गया.

ज़िले के पुलिस अधीक्षक डी श्रवण के अनुसार, "बंडा-गोलपल्ली पर मुरलीगुड़ा के पास गुरुवार की शाम एक बच्ची की मौत हुई है. बच्ची अपनी मां के साथ कोंटा से लौट रही थी."

पुलिस के अनुसार कन्हाईगुड़ा की 8 साल की मुचाकी अनिता कोंटा के ढ़ोढरा में कन्या आश्रम में पहली कक्षा में पढ़ती थी.

इमेज कॉपीरइट Alok Putul

तबियत खराब होने के कारण अपनी मां के साथ घर लौट रही थी, जहां रास्ते में ये विस्फोट हो गया.

पुलिस ने बताया कि पिछले हफ्ते भी इम्प्रोवाइज़्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस के धमाके में सीआरपीएफ़ के एक जवान की मौत हो गई थी.

इस विस्फोट में एक डिप्टी कमांडेंट समेत चार लोग घायल हुए थे.

मानवाधिकार संगठन पीयूसीएल ने पूरे मामले की न्यायिक जांच की मांग की है.

छत्तीसगढ़ में पीयूसीएल के अध्यक्ष डॉ. लाखन सिंह ने कहा है कि बस्तर में युद्ध जैसे हालात पैदा कर दिए गए हैं जिसका शिकार दोनों तरफ़ से आदिवासी हो रहे हैं.

डॉ लाखन सिंह ने कहा, " हम हर तरह की हिंसा के खिलाफ़ हैं, हम इस बच्ची की मौत की निंदा करते हैं औऱ इसकी जांच की मांग करते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार